प्रद्युम्न मर्डर केस: रेयान स्कूल के मालिकों को राहत नहीं, गिरफ्तारी पर रोक से इनकार

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 20-09-2017 / 11:48 AM
  • Update Date: 20-09-2017 / 11:50 AM

चंडीगढ़. रेयान इंटरनेशनल स्कूल के ट्रस्टीज को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट से राहत नहीं मिली है। कोर्ट ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने से साफ इनकार कर दिया है। प्रद्युम्न के वकील ने बताया कि कोर्ट ने का कहना है कि यह बहुत गंभीर मामला है। सभी पक्षों को बिना सुनें कोई फैसला नहीं लिया जा सकता। इसलिए अगली सुनवाई मंगलवार को होगी। इससे पहले मंगलवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के जस्टिस एबी चौधरी ने इस पिटीशन पर सुनवाई से खुद को अलग कर लिया था। उनका कहना था कि वे पिंटो परिवार को निजीतौर पर जानते हैं, ऐसे में सुनवाई नहीं कर सकते। इसके बाद केस नई बेंच को भेजा गया था। रेयान ग्रुप के ट्रस्टीज में शामिल सीईओ रेयान पिंटो, उनके पिता आॅगस्टाइन पिंटो और मां ग्रेस पिंटो ने शनिवार को यह पिटीशन दायर की थी। उन्होंने खुद पर लगाए आरोपों को गलत बताया था। कहा था कि इसके बाद भी पुलिस उन्हें अरेस्ट कर सकती है। इसलिए उन्हें इंटेरिम बेल दी जाए।
खारिज कर दी थी पिटीशन बॉम्बे हाईकोर्ट ने
पिंटो फैमिली मुंबई में ही रहती है । 14 सितंबर को बॉम्बे हाईकोर्ट ने तीनों ट्रस्टीज की इंटेरिम बेल पिटीशन खारिज कर दी थी। पिंटो फैमिली ने गिरफ्तारी से बचने के लिए ये पिटीशन लगाई थी। 14 सितंबर को हुई सुनवाई के दौरान बॉम्बे हाईकोर्ट ने पिंटो फैमिली से कहा था कि उन्हें सिर्फ 15 सितंबर तक गिरफ्तारी से छूट दी जा रही है, वह भी तब जब वे अपना पासपोर्ट जमा करा दें।
3 महीने सरकार चलाएगी स्कूल, जांच उइक को सौंपी
गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई प्रद्युम्न की हत्या के मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश 15 सितंबर को कर दी थी। प्रद्युम्न की शोक सभा में शामिल होने के लिए 15 सितंबर को उसके घर पहुंचे खट्टर ने सीबीआई जांच का एलान किया था। उन्होंने यह भी बताया कि रेयान स्कूल को 3 महीने के लिए राज्य सरकार ने टेकओवर कर लिया है।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF