12 साल के प्रज्ञनानंधा ने शतरंज में रचा इतिहास, किया कुछ ऐसा कमाल

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 24-06-2018 / 11:13 PM
  • Update Date: 24-06-2018 / 11:13 PM

नई दिल्ली। 12 साल 10 महीने के शतरंज खिलाड़ी आर प्रज्ञनानंधा ने दुनिया का दूसरा सबसे कम उम्र का ग्रैंडमास्टर बनते हुए इतिहास रच दिया है। चेन्नई के प्रज्ञनानंधा शनिवार को सबसे कम उम्र के भारतीय ग्रैंडमास्टर बन गए। प्रज्ञनानंधा ने ये उपलब्धि इटली में ग्रेडिन ओपन में तीसरे ग्रैंडमास्टर नॉर्म के साथ हासिल की। ग्रेडिन ओपन के आठवें राउंड में प्रज्ञनानंधा ने इटली के ग्रैंड मास्टर मोरोनी जूनियर को हराते हुए ये उपलब्धि हासिल की।

दुनिया में सबसे कम उम्र में ग्रैंडमास्टर बनने का रिकॉर्ड उक्रेन के सर्जेई करजाकिन के नाम है, जिन्होंने 2002 में 12 साल 7 महीने की उम्र में ग्रैंडमास्टर बनते हुए ये उपलब्धि अपने नाम की थी। संयोग से सबसे कम उम्र में ग्रैंडमास्टर बनने वालों में चौथे नंबर पर एक और भारतीय परिमार्जन नेगी का नाम है, जो 13 साल 4 महीने की उम्र में ग्रैंडमास्टर बने थे।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF