‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी- हमारे लिए संगठन चुनाव जीतने की मशीन नहीं

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 05-07-2020 / 7:53 AM
  • Update Date: 05-07-2020 / 7:53 AM

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को ‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम के तहत बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों की सहायता के लिए उठाये गये कदमों की सराहना की। पार्टी की 7 राज्य इकाइयों ने वीडियो कॉन्फ्रेंस से अपने कार्यों का प्रस्तुतिकरण प्रधानमंत्री के समक्ष दिया।

बैठक की शुरुआत में भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने संकट के इस समय में बेहतर नेतृत्व के लिए प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा की और कहा कि महामारी से निपटने में उनके फैसलों की दुनियाभर में सराहना हुई है। नड्डा ने लॉकडाउन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा किये गये संपूर्ण राहत कार्यों का विवरण प्रस्तुत किया और कहा कि करीब चार लाख कार्यकर्ताओं ने बुजुर्गों और बीमारों की मदद की। डिजिटल बैठक में यहां दिल्ली मुख्यालय से केंद्रीय मंत्रियों राजनाथ सिंह, अमित शाह, निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल और गिरिराज सिंह ने भी भाग लिया, वहीं मोदी अपने आवास से वीडियो लिंक के माध्यम से इसमें जुड़े।

इस दौरान मोदी ने कहा, साथियों हमारे लिए हमारा संगठन चुनाव जीतने की मशीन नहीं है, हमारे लिए संगठन का मतलब है सेवा। मैं आग्रह करता हूं कि हम हर मंडल की एक डिजिटल बुकलेट इस पूरे काम को समेटते हुए बनाएं। इसके बाद पूरे जिले और फिर राज्य और फिर देश की एक डिजिटल बुक बने।

पीएम मोदी ने कहा कि जिस पार्टी के इतने सांसद हों, हजारों विधायक हों, फिर भी वह पार्टी और उसका कार्यकर्ता सेवा को प्राथमिकता दे, सेवा को ही अपना जीवन मंत्र माने, भाजपा के कार्यकर्ता के नाते मुझे बहुत गर्व होता है कि हम सब ऐसे संगठन के सदस्य हैं। हमारे लिए हमारा संगठन चुनाव जीतने की सिर्फ मशीन नहीं है, हमारे लिए हमारा संगठन का मतलब है ‘सेवा’ हमारे लिए हमारे संगठन का मतलब है- ‘सबका साथ’ हमारे लिए हमारे संगठन का मतलब है- ‘सबका सुख, सबकी समृद्धि’ हमारा संगठन समाज हित के लिए काम करने वाला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जनसंघ और भाजपा के जन्म का मूलतः उद्देश्य ही यही था कि हमारा देश सुखी कैसे बने, समृद्ध कैसे बने। इसी मूल प्रेरणा के साथ, भारतीयता की प्रेरणा के साथ, सेवा की भावना के साथ हम राजनीति में आए। हम लोगों ने राजनीति में सत्ता को सेवा का माध्यम माना। हमने कभी भी सत्ता को अपने लाभ का माध्यम नहीं बनाया। निःस्वार्थ सेवा ही हमारा संकल्प रहा है और यही हमारे संस्कार रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि एक आफत आई तो आपने उसको अवसर में बदल दिया। अवसर ये कि आप ज्यादा से ज्यादा लोगों की सेवा कर सकें, ज्यादा से ज्यादा लोगों की तकलीफ कम कर सकें, उन्हें इस मुसीबत से उबार सकें। जिसकी हम सेवा करते हैं, उसका सुख ही हमारा संतोष है। इसी भावना से गरीबों के प्रति, इसी समभाव और ममभाव से हमारे कार्यकर्ताओं ने इतने कठिन समय में सेवा ही संगठन का इतना बड़ा अभियान चलाया है। दुनिया की नजरों में आप कोरोना काल में काम कर रहे थे लेकिन मैं अपनी बात करूं तो आप खुद को कसौटी पर कस रहे थे। आप अपने आदर्शों के बीच खुद को तपा रहे थे।

पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी के प्रत्येक कार्यकर्ता को अपने साथ- Seven ‘S’ की शक्ति को लेकर आगे बढ़ना चाहिए। जिसमें सेवाभाव, संतुलन, संयम, समन्वय, सकारात्मकता, सद्भावना और संवाद शामिल है। पीएम ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने इस मुश्किल वक्‍त में लोगों की मदद करने में कोई कमी नहीं रखी। मुझे पार्टी कार्यकर्ताओं पर पूरा भरोसा है कि वे आने वाले दिनों में भी ऐसे ही जी जान से लगे रहकर लोगों की मदद का काम करते रहेंगे। लॉकडाउन के दौरान बिहार में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए राहत कार्यों को देखने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यूपी और बिहार जैसे राज्यों में चुनौतियां बहुत हैं। आप लोगों ने बीड़ा उठाया है कि हमारे जो श्रमिक भाई बहन वापस आए हैं उनकी मदद करने में कोई कमी नहीं रखेंगे।

राजस्‍थान में पार्टी कार्यकर्ताओं के किए गए कार्यों से अवगत होने के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन में उनके प्रयासों की तारीफ की। प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्‍थान के कार्यकर्ताओं ने लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जरूरतमंदों को काफी मदद पहुंचाई है। राजस्थान भाजपा ने दिखाया है कि कैसे हम लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हो सकते हैं, भले ही हम सत्ता में हों या सत्ता से बाहर… यह वाकई बहुत प्रेरणादायी है।

इससे पहले भाजपा की 7 प्रदेश इकाइयों ने लॉकडाउन के बीच किए गए सेवा के कामों की रिपोर्ट प्रधानमंत्री मोदी के सामने पेश की। इन राज्यों में राजस्थान, बिहार, दिल्ली, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और असम शामिल थे। कार्यकर्ताओं ने बताया कि उन्होंने लाखों जरूरतमंदों को भोजन पहुंचाया। प्रवासी श्रमिकों को खाना, जूते-चप्पल, मास्क, सैनिटाइजर और महिलाओं को सैनेटरी पैड उपलब्ध कराए। दिल्ली के कार्यकर्ता ने बताया कि उन्होंने मतभेदों को भूलकर कांग्रेस के नेता अधीर रंजन के एक ट्वीट पर लॉकडाउन में फंसे बंगाल के लोगों को मदद पहुंचाई। प्रधानमंत्री मोदी ने इन सभी कार्यकर्ताओं का आभार जताया।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF