वीर सावरकर प्रधानमंत्री होते तो नहीं होता पाकिस्तान: उद्धव ठाकरे

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 18-09-2019 / 9:51 AM
  • Update Date: 18-09-2019 / 9:51 AM

मुंबई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का कहना है कि अगर वीर सावरकर इस देश के प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान का जन्म भी नहीं होता। उन्होंने वीर सावरकर के लिए देश के सर्वोच्च पुरस्कार भारत रत्न की भी मांग की और कहा कि हमारी सरकार हिंदुत्व की सरकार है।

ठाकरे ने एक आत्मकथा ‘सावरकर: इकोज फ्रॉम अ फॉरगाटेन पास्ट’ के विमोचन के मौके पर यह बात कही। उन्होंने कहा कि सावरकर को भारत रत्न से सम्मानित किया जाना चाहिए। हम गांधी और नेहरू द्वारा किए गए काम से इनकार नहीं करते हैं, लेकिन देश ने दो से अधिक परिवारों को राजनीतिक परिदृश्य पर अवतरित होते हुए देखा।

ठाकरे ने अपने भाषण में कहा, उन्हें नेहरू को वीर कहने में कोई आपत्ति नहीं होती यदि वह 14 मिनट भी जेल के भीतर सावरकर की तरह रहे होते। सावरकर 14 साल तक जेल में रहे थे। राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष गांधी को नई किताब पढ़नी चाहिए और सावरकर के कामों के बारे में अधिक जानना चाहिए।

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी ने एक चुनावी रैली में कहा था कि वीर सावरकर ने जेल से आजादी पाने के लिए अंग्रेजों से माफी मांगी थी। माना जाता है कि वीर सावरकर ने “हिंदुत्व” शब्द को लोकप्रिय बनाया है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF