ऑनलाइन एजुकेशन से जुड़े दिशा-निर्देश जारी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 15-07-2020 / 11:30 AM
  • Update Date: 15-07-2020 / 11:30 AM

नई दिल्‍ली। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने देश में ऑनलाइन एजुकेशन से जुड़े प्रज्ञता दिशा-निर्देशों को जारी किया। इन दिशानिर्देशों के तहत कक्षा 1 से 12 तक के छात्रों के लिए प्रतिदिन ऑनलाइन पढ़ाई की समय सीमा तय की गई है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने छात्रों की सुरक्षा और शैक्षणिक हितों को ध्यान में रखते हुए ये दिशा-निर्देश तैयार किए हैं। इन दिशा-निर्देशों के मुताबिक प्री प्राइमरी कक्षाओं के लिए प्रतिदिन अधिकतम 30 मिनट की समय सीमा तय की गई है, जो अभिभावकों के साथ बातचीत और उन्हें निर्देश देने के लिए है।

कक्षा 1 से 8 तक के विद्यार्थी हर रोज़ 30 से 45 मिनट के अधिकतम दो ऑनलाइन सत्र में ही शामिल हो सकते हैं, जबकि कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थी 30 से 45 मिनट के अधिकतम 4 ऑनलाइन सत्र में पढ़ाई कर सकते हैं। ऑनलाइन पढ़ाई के दिन राज्य अपने हिसाब से तय कर सकते हैं।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी का असर स्कूल जाने वाले 24 करोड़ से भी अधिक छात्रों पर पड़ा है। लंबे समय तक स्कूल बंद होने का प्रतिकूल असर छात्रों की पढ़ाई-लिखाई पर पड़ सकता है। इस असर को कम करने के लिए स्कूलों को न केवल शिक्षा और शिक्षण के तौर-तरीकों में बदलाव करने होंगे, बल्कि ऐसे तरीके ढूंढने होंगे जिससे बच्चों को घर पर और स्कूल में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया कराई जा सके।

प्रज्ञता दिशा-निर्देशों को छात्रों के दृष्टिकोण से तैयार किया गया है, जिसका मकसद घर से पढ़ाई कर रहे छात्रों को बेहतर ऑनलाइन/डिजिटल शिक्षा मुहैया कराना है। ये दिशा-निर्देश छात्रों के साथ-साथ शिक्षकों, स्कूल प्रमुखों, शिक्षक प्रशिक्षकों और अभिभावकों के लिए काफी उपयोगी साबित होंगे।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF