देश के अगले मुख्य न्यायाधीश होंगे एनवी रमना, 24 अप्रैल को संभालेंगे पद

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 06-04-2021 / 6:51 PM
  • Update Date: 06-04-2021 / 6:51 PM

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने न्यायाधीश नूतलपति वेंकट (एनवी) रमना को भारत का अगला मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया है। सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक, न्यायमूर्ति रमना 24 अप्रैल को भारत के 48वें प्रधान न्यायाधीश के तौर पर प्रभार संभालेंगे और मौजूदा सीजेआई एस ए बोबडे की जगह लेंगे। सीजेआई बोबडे 23 अप्रैल को यह पद छोड़ेंगे। न्यायाधीश रमना 26 अगस्त, 2022 को सेवानिवृत्त होंगे।

न्यायाधीश नूतलपति वेंकट रमना को फरवरी 2014 को सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त किया गया था। उन्होंने 10 फरवरी 1983 में वकालत शुरू की थी। जिस दौरान चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, उस दौरान न्यायाधीश रमना आंध्र प्रदेश सरकार के एडिशनल एडवोकेट जनरल हुआ करते थे।

किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले एनवी रमना ने साइंस और लॉ में ग्रेजुएशन किया है। इसके बाद उन्होंने आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट, केंद्रीय प्रशासनिक ट्रिब्यूनल और सुप्रीम कोर्ट में कानून की प्रैक्टिस शुरू की। राज्य सरकारों की एजेंसियों के लिए वे पैनल काउंसेल के तौर पर भी काम करते थे। 27 जून 2000 में वो आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में स्थायी जज के तौर पर नियुक्त किए गए। इसके बाद साल 2013 में 13 मार्च से लेकर 20 मई तक वो आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश रहे।

2 सितंबर 2013 को जस्टिस रमना का प्रमोशन हुआ। इसके बाद वो दिल्ली हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस नियुक्त किए गए। फिर 17 फरवरी 2014 को उन्हें सुप्रीम कोर्ट का जज बनाया गया। पिछले कुछ सालों में जस्टिस रमना का सबसे चर्चित फैसला जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट की बहाली को लेकर रहा है। चीफ जस्टिस के कार्यालय को सूचना अधिकार कानून (RTI) के दायरे में लाने का फैसला देने वाली बेंच के भी जस्टिस रमना सदस्य रह चुके हैं।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में जजों की अनुमोद‌ित संख्या 34 (चीफ जस्टिस समेत) है। हालांकि, कोर्ट वर्तमान में 30 जज ही कार्यरत हैं, क्योंकि जस्ट‌िस गोगोई, जस्ट‌िस गुप्ता, जस्ट‌िस भानुमति और जस्टिस मिश्रा की सेवानिवृत्ति के बाद अब तक एक भी जज की नियुक्ति नहीं हो पाई है। जस्ट‌िस गोगोई 2019 में सेवानिवृत्त हुए थे, जबकि अन्य सभी 2020 की शुरुआत में सेवानिवृत्त हुए थे।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF