आईएस की सेक्स गुलाम रही नादिया मुराद को मिला नोबेल का शांति पुरस्कार

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 11-10-2018 / 3:47 PM
  • Update Date: 11-10-2018 / 3:47 PM

नई दिल्ली। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के पास करबी तीन महीनों तक सेक्स गुलाम रही यजिदी लड़की नादिया मुराद को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए चुना गया है। आज ओस्लो में नॉर्वे की कमेटी ओर से शांति पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है। डेनिस मुकवेगे और नादिया मुराद को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए चुना गया है। इन दोनों का यौन हिंसा को युद्ध के हथियार की तरह इस्तेमाल होने के खिलाफ प्रयास में बड़ा योगदान रहा है।

नोबेल समिति की अध्यक्ष बेरिट रेइस एंडरसन ने यहां नामों की घोषणा करते हुए कहा कि यौन हिंसा को युद्ध के हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने पर रोक लगाने के इनके प्रयासों के लिए इन दोनों को चुना गया है। उन्होंने कहा, एक अति शांतिपूर्ण विश्व तभी बनाया जा सकता है जब युद्ध के दौरान महिलाओं, उनके मूलभूत अधिकारों और उनकी सुरक्षा को मान्यता और सुरक्षा दी जाए।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF