‘मणिकर्णिका’ को छोड़ने के फैसले में लैंगिकता की कोई भूमिका नहीं: सोनू सूद

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 01-09-2018 / 8:40 PM
  • Update Date: 01-09-2018 / 8:40 PM

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने कहा है कि अभिनेत्री कंगना रनौत ‘मणिकर्णिका : द क्वीन आफ झांसी’ से उनके अलग होने को पुरुष वर्चस्ववाद का मुद्दा बना रहीं हैं। सोनू ने सिम्बा के प्रति अपने पेशेवर प्रतिबद्धता के कारण ‘मणिकर्णिका : द क्वीन आफ झांसी’ छोड़ दी। लेकिन फिल्म में मुख्य किरदार निभा रहीं कंगना ने दावा किया कि सूद ने फिल्म इसलिए छोड़ी क्योंकि वह एक महिला निर्देशक के निर्देशन में काम नहीं करना चाहते। सोनू ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि कृष द्वारा निर्देशित इस फिल्म को छोड़ने के उनके फैसले में लैंगिकता की कोई भूमिका नहीं है।

सोनू ने कहा, कंगना एक प्रिय दोस्त हैं और वह हमेशा रहेंगी लेकिन उनका लगातार महिला कार्ड व पीड़िता कार्ड खेलना और इस पूरे मुद्दे को पुरुष वर्चस्ववाद का रूप देना हास्यास्पद है। उन्होंने कहा, निर्देशक की लैंगिकता कोई मुद्दा नहीं है। बात सामथ्र्य की है। इन दोनों में भ्रम पैदा मत कीजिए। मैंने फराह खान के साथ काम किया है, जो एक समर्थ महिला निर्देशक हैं और फराह व मेरे बीच बेहतरीन पेशेवर तालमेल है और हम हमेशा अच्छे दोस्त रहेंगे। मैं बस यही कहना चाहता हूं। कृष के अन्य फिल्म में व्यस्त होने के कारण कंगना ने मणिकर्णिका के निर्देशन की कमान संभाल ली है। यह फिल्म रानी लक्ष्मीबाई पर आधारित है।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF