टीबी को खत्‍म करने के लिए तरीके में बदलाव लाने की जरूरत: पीएम मोदी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 13-03-2018 / 6:17 PM
  • Update Date: 13-03-2018 / 6:17 PM

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली में आयोजित ‘टीबी मुक्‍ति (तपेदिक) समिट’ में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीबी रोग को लेकर निराशा व्‍यक्‍त की। पीएम मोदी ने कहा, हम अब तक टीबी को खत्‍म करने में सफल नहीं हुए हैं। मेरा मानना है कि यदि 10-15 साल बाद भी हमें सकारात्‍मक परिणाम नहीं मिल रहा तो तरीके में बदलाव लाने की जरूरत है। परिस्‍थिति की निगरानी और विश्‍लेषण की जाने की जरूरत है।

टीबी समिट में पीएम ने कहा, हमने 2025 तक भारत से टीबी को खत्‍म करने का लक्ष्‍य रखा है। बड़े और मुश्किल लक्ष्य हासिल किए जा सकते हैं। उसके लिए पहली आवश्यकता है कि कोई लक्ष्य तय तो किया जाए। जब लक्ष्य ही तय नहीं होगा, तो फिर न रफ्तार रहेगी, न दिशा रहेगी और न ही आप मंजिल तक पहुंच पाएंगे। प्रधानमंत्री ने इस इवेंट की सराहना करते हुए उम्‍मीद जतायी कि इस इवेंट को टीबी मुक्‍त धरती बनाने की दिशा में महत्‍वपूर्ण इवेंट के तौर पर जाना जाएगा।

उन्‍होंने कहा, मुझे खुशी है कि भारत के हेल्‍थ एंड फैमिली वेलफेयर मिनिस्‍ट्री की ओर से यह पहल की गयी जिसमें एशिया, अफ्रीका और दुनिया के अनेक देशों के प्रतिनिधियों को एक मंच पर आने का मौका मिला। साथ ही उन्‍होंने कहा, इस आयोजन में राज्यों की तरफ से आए मंत्रिगण और संबंधित पदाधिकारियों का इतनी बड़ी संख्या में उपस्थित होना, इस बात का संकेत है कि कैसे हम टीम इंडिया की तरह अपने देश को टीबी से मुक्ति दिलाने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं।

पीएम ने टीबी उन्‍मूलन में राज्‍य सरकारों की अहम भूमिका बताते हुए कहा, इस मिशन में राज्य सरकारों को अपने साथ लेकर चलने के लिए मैंने खुद देश के सभी मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखकर इस अभियान से जुड़ने का आग्रह किया है। उन्‍होंने कहा, टीबी के मरीजों की सही पहचान हो, बीमारी का समय पर पता चले, जो दवाइयां दी जा रही हैं, वो प्रभावी हैं भी या नहीं, drug-resistant TB तो नहीं है, इन विषयों को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा व्यापक स्तर पर कार्य किया जा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा, भारत में तो वैसे भी किसी भी संक्रामक बीमारी से टीबी का प्रभाव सबसे ज्यादा है और इसका सबसे ज्यादा शिकार भी गरीब होते हैं। इसलिए इसे खत्म करने के लिए उठाया गया हर कदम, सीधे-सीधे गरीबों के जीवन से जुड़ा हुआ है। साथ ही स्‍वच्‍छ भारत मिशन का उल्‍लेख करते हुए पीएम ने कहा, ऐसी ही नई एप्रोच के साथ हमारी सरकार स्वच्छ भारत मिशन के लिए भी काम कर रही है। इसी का नतीजा है कि 2014 में देश के ग्रामीण इलाकों में स्वच्छता का जो दायरा लगभग 40 फीसद था अब वो बढ़कर लगभग 80 फीसद पहुंच गया है। इतने कम समय में हमने दोगुनी कवरेज हासिल की है।

पीएम मोदी ने आगे कहा, भारत में इम्‍यूनाइजेशन पिछले 30-35 साल से चल रहा है। लेकिन 2014 तक लक्ष्‍य तक पहुंचने में असफल रहे। और अगर इसी तरह से चलता तो लक्ष्‍य तक पहुंचने में 40 साल और लग जाता। पहले हमारी इम्‍यूनाइजेशन कवरेज 1 फीसद की रफ्तार के साथ बढ़ रहा था जो तीन-साढ़े तीन साल में अब 6 फीसद से अधिक हो गया है और अगले एक साल में 90 फीसद का कवरेज हासिल हो जाएगा।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF