मौसम विभाग ने जारी किया चक्रवाती तूफान का अलर्ट

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 18-05-2020 / 10:01 AM
  • Update Date: 18-05-2020 / 10:01 AM

नई दिल्ली। कोरोना वैश्विक महामारी से जूझ रहे भारत के सामने एक और चुनौती खड़ी है। अब भारतीय मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान ‘अम्फन’ का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी और उसके आसपास के क्षेत्र में चक्रवाती तूफान की चेतावनी दी है।

चक्रवात अम्फन के आसन्न खतरे के मद्देनजर ओडिशा और पश्चिम बंगाल में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीम तैनात कर दी गईं। इस बीच, ओडिशा ने कहा कि वह इस चक्रवात से बुरी तरह से प्रभावित होने वाले 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए तैयार है।

बंगाल की खाड़ी में उठने वाला चक्रवाती तूफान चक्रवाती तूफान ‘अम्फन’ इस समय बंगाल की खाड़ी पर है। यह अगले कुछ घंटों में ही भीषण चक्रवात बन जाएगा। इसके प्रभावी होने के लिए लिए समुद्र में स्थितियां अनुकूल हैं। यह आज रात तक सक्रिय हो सकता है।

19 मई की रात या 20 मई की सुबह तक इसके लैंडफॉल करने यानी तटों से टकराने की संभावना है। अगले 24 घंटों में यह भीषण तूफान में बदल सकता है। इस तूफान के प्रभाव के चलते देश के कई राज्‍यों में भारी बारिश, तेज हवाओं और आंधी की संभावना जताई जा रही है।

मौसम विभाग ने कहा कि अगले 12 घंटों के दौरान बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी और पड़ोस में तीव्र चक्रवाती तूफान अम्फान आने की संभावना है। संभवत: अगले 24 घंटों में यह अत्यधिक प्रचंड चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। बताया जा रहा है बंगाल की खाड़ी में उठ रहे तूफान कई राज्यों के लिए खतरा बन सकता है।

मौसम विभाग का कहना है कि इस दौरान 70 किलोमीटर प्रति घंटे तक तेज हवाएं चलेंगे और बारिश भी होगी। मौसम विभाग इसे लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ अभी भी सक्रिय है।

इसका असर पर्वतीय इलाकों जैसे जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के साथ-साथ पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी बना हुआ है। जिसे लेकर मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

वहीं गृह मंत्रालय का कहना है कि चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ 20 मई को पश्चिम बंगाल के तट से टकराएगा और इसके भयंकर रूप लेने की आशंका है। फिलहाल यह दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में सक्रिय है। मंत्रालय ने बताया कि चक्रवाती तूफान अम्फान दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी और नजदीकी क्षेत्र से आगे बढ़ रहा है और बीते छह घंटे में छह किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तरपश्चिमी दिशा की ओर जा रहा है।

मंत्रालय के एक अधिकारी ने मौसम विज्ञान विभाग के हवाले से बताया कि चक्रवात के अगले छह घंटे में भयंकर तूफान में बदलने की आशंका है। इसके बाद अगले 12 घंटे में यह और भयंकर रूप ले सकता है। सोमवार तक यह उत्तर दिशा की ओर बढ़ेगा और फिर उत्तर-उत्तरपूर्व में उत्तर पश्चिमी बंगाल की खाड़ी की ओर मुड़ जाएगा।

एक आधिकारिक आदेश में बताया गया कि चक्रवात के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लेने के लिए मंत्रिमंडल सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में शनिवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई है। बैठक में पश्चिम बंगाल और ओडिशा को तत्काल सहायता देने के निर्देश दिए गए हैं। क्षेत्र में भारी बारिश, तेज हवाएं और ज्वार-भाटे की आशंका है।

आपको बता दें कि ओडिशा में चक्रवाती तूफान की आशंका के मद्देनजर मछुआरों को गहरे समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के दक्षिणपूर्व में कम दबाव वाला क्षेत्र शनिवार की सुबह अधिक दबाव वाले क्षेत्र में बदल गया और यह ओडिशा के पारादीप से लगभग 1,100 किलोमीटर दूर दक्षिण में केन्द्रित है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF