मकर राशि में मंगल मार्गी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 27-08-2018 / 11:13 PM
  • Update Date: 27-08-2018 / 11:13 PM

ग्रहों के सेनापति मंगल ग्रह 27 अगस्त सोमवार को शाम 7.36 बजे मकर राशि में मार्गी होंगे। ज्योतिष शास्त्र में मंगल ग्रह को शक्तिशाली ग्रह कहा जाता है। आत्मविश्वास, अहंकार, वीरता, पराक्रम और साहस का कारक माना जाता है। मंगल का स्वभाव बेहद उग्र होता है। मंगल के शुभ प्रभाव से मनुष्य के अंदर इन सभी गुणों की वृद्धि होती लेकिन अशुभ प्रभाव की वजह से विपरीत फल देखने को मिलता है।

मंगल का सीधा प्रभाव मनुष्य के स्वभाव और आत्मविश्वास पर पड़ता है।मंगल के शुभ प्रभाव से साहस, वीरता और आत्म विश्वास समेत विभिन्न गुणों में वृद्धि होती है लेकिन मंगल की अशुभ स्थिति से व्यक्ति की क्षमता व उसका आत्मविश्वास कमज़ोर होता है। इसके अलावा रक्त जनित रोग भी होते हैं।

मंगल ग्रह के वक्री होने से 62 दिनों से चली आ रही आपदाएं, आगजनी, वाद-विवाद, बाढ़ जैसी दुर्घटनाओं से लोगों को राहत मंगल के मार्गी होने से भूमि-भवन, अचल संपत्ति, भवन-निर्माण की सामग्री आदि व्यापारिक कार्यों में वृद्धि होगी। मंगल ग्रह के गोचर काल का अपनी उच्च राशि मकर में होने से लोगों को राहत मिलेगी।

साथ ही लोगों के अभी तक रुके हुए कार्यों को भी अच्छी गति मिलेगी। लेकिन साथ में केतु ग्रह के होने से कार्यों में बाधाएं भी आ सकती ह 12 राशी का फलादेश
मंगल ग्रह 27 अगस्त सोमवार को शाम 7.36 बजे मकर राशि में मार्गी होंगे और 6 नवंबर तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। मंगल के इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर होगा।

आईये जानते हैं आपकी राशि के अनुसार आपके जीवन पर क्या होगा मंगल के इस गोचर का असर
ज्योतिषाचार्य के अनुसार ग्रहों के अनुकूल होने से खुशियां आएंगी। मंगल ग्रह के मार्गी होने के साथ तुला राशि में देव गुरु बृहस्पति, दैत्य गुरु शुक्र की युति शंख योग बनाएगी।

ज्योतिष में यह युति शुभ मानी जाती है।
दोनों ग्रहों की युति साल में एक बार ही होती है।
इन दोनों ग्रहों की युति से व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक प्रभाव दिखेंगे।
शुक्र 1 सितंबर को तुला राशि में प्रवेश करेंगे।
यह 1 जनवरी 2019 तक इसी राशि में रहेंगे।
बृहस्पति भी तुला राशि में 11 अक्टूबर तक रहेंगे।
इसलिए गुरु और शुक्र की युति 11 अक्टूबर तक रहेगी।
इससे भारत के आर्थिक वातावरण में सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेंगे।

साहस, बल, भूमि का प्रतिनिधित्व करने वाला ग्रह मंगल के मार्गी होने से भूमि संबंधी कार्य होंगे, जिनकी भूमि बिक नहीं रही थी उनकी भूमि बिकने में आसानी होगी। व्यक्ति साहसिक कार्य करने में पीछे नहीं हटेगा। गुरु ग्रह 10 जुलाई से मार्गी हो चुके हैं। मंगल ग्रह 27 अगस्त को मार्गी हो जाएगा। 26 जुलाई से कर्क राशि में वक्री चल रहा बुध ग्रह रविवार से कर्क राशि में मार्गी हो गया। 18 अप्रैल से धनु राशि में वक्री हुए शनि 6 सितंबर को धनु राशि मे मार्गी होंगे।

मंगल का मकर राशि में गोचर का सभी राशियों पर असर होगा। हर राशियों पर होने वाले इसके प्रभाव कुछ इस तरह होंगे। यह राशि फल चन्द्र राशि पर आधारित है तथा बहुत ही सामान्य आधार पर है अतः किसी विशेष परिस्थिति में अपनी कुंडली की जाँच कराकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचे। अच्छे या बुरे परिणाम आपकी वर्तमान दशा- अंतर दशा पर निर्भर करते हैं।
मेष  : अ, ल, इ – राशि का स्वामी स्वयं मंगल हैं। मंगल के मार्गी होने से इस राशि के जातकों पर मंगल की विशेष कृपा बनी रहेगी और आपको अत्यधिक लाभ मिलेगा। वहीं अब तक के सभी रुके हुए कार्य पूरे होंगे। इस दौरान आपकी सभी आर्थिक योजना भी पूरी हो सकती है। संपत्ति खरीदने के योग बन रहे हैं। नौकरीपेशा लोगों के लिए ये समय अत्यधिक शुभ रहने वाला है। आपको तरक्की मिलेगी।
वृषभ : ब, व, उ – इस राशि के जातकों के मानसिक तनाव में कमी होगी। वहीं हर क्षेत्र में तरक्की प्राप्त होगी, अब तक का मिल रही असफलता से निजात मिलेगा। रुके हुए सभी कार्य पूर्ण होंगे। धन-संपदा में वृद्धि होगी। मंगल की ये सीधी चाल आपको अत्यधिक धनलाभ करवाएगी
मिथुन : क, छ, घ – राशि के जातकों के लिए मंगल की सिधी चाल बहुत ही शुभ साबित होगी। आर्थिक परेशानियों से छुटकारा मिलेगा साथ ही पारिवारिक जीवन में भी खुशहाली आएगी। अच्छी नौकरी की तलाश में हैं तो पूरी होगी, बहुत जल्द आपको अच्छी नौकरी मिलने वाली है।
कर्क : ड, ह – राशि के जातकों के लिए यह समय पारिवारिक व दांपत्य के लिए सुखमय रहेगा। आर्थिक लाभ के लिए किसी का दिल ना दुखाएं। मंगल के प्रभाव से नए प्रेम संबंध बनेंगे। कार्य-व्यवसाय में लाभ मिलेगा।जीवनसाथी से लंबे वक्त से चला आ रहा विवाद खत्म होगा। यदि आप कोई नया कार्य शुरु करने वाले हैं तो जीवनसाथी की राय जरूर ल
सिंह : म, ट – सिंह राशि के जातकों को स्वास्थ में लाभ मिलेगा। आपका धन काफी लंबे वक्त से बीमारियों के इलाज में खर्च हो रहा था लेकिन मंगल के मार्गी होने के कारण अब इससे आपको छुटकारा मिलेगा। सहकर्मियों से चल रहा मनमुटाव समाप्त होगा। व्यापारियों के लिए शुभ फल प्राप्ति के योग हैं। व्यापार में हो रहे घाटे में कमी आएगी। शत्रु इस दौरान आपके आगे सिर नहीं उठा पाएंगे। यदि आप नौकरी करते हैं तो प्रमोशन या स्थान परिवर्तन के योग बन रहे
कन्या : प, ठ, ण – 27 अगस्त के बाद आपको कई क्षेत्रों में लाभ मिलने वाला है। जीवनसाथी से प्रेम संबंधों में इजाफा होगा। संतान पक्ष के साथ आपके रिश्ते सुधरेंगे और मजबूत बनेंगे। आर्थिक और भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी। कहीं यात्रा पर जा सकते हैं। आप फिजूलखर्ची पर लगाम लगाएंगे
तुला : र, त – राशि के जातकों के लिए अत्यधिक लाभदायी रहेगा। आर्थिक मामलों में आपको जमकर लाभ होने वाला है। भौतिक सुख-साधनों की प्राप्ति के भी योग बन रहे हैं। लॉटरी, प्रॉपर्टी और शेयर मार्केट से आपको धनलाभ होने के योग हैं। यदि आप किसी बिजनेस की प्लानिंग कर रहे हैं तो वह इस समय में फलित होगी।
वृश्चिक : न, य – इस राशि का स्वामी भी मंगल होता है। मंगल का मार्गी होना शुभ समाचार प्राप्त कराएगा। निवेश से भारी धन लाभ होने के संकेत है। यह जमीन से जुड़ा भी हो सकता है। जीवन साथी का भरपूर साथ मिलेगा। व्यापार में मुनाफा मिलेग
धनु : भ, ध,फ – इस राशि के जातक धन संचय कर पाएंगे। आर्थिक स्थिति बेहतर बनेगी। याद रहे कि इस दौरान आर्थिक मामलों में आपके करीबियों से आपका झगड़ा हो सकता है इसलिए सतर्कता के साथ काम करें। किसी को पैसा उधार देने से पहले जांच परख लें। संतान पक्ष पर पैसा खर्च हो सकता
मकर : ख, ज – मार्गी होना आपके लिए सुख सुविधाएं लेकर आएगा। इसकी वजह से आप शारीरिक रूप से मजबूत बनेंगे तथा आपको बीमारियों से मुक्ति मिलेगी। धन का संग्रहण होगा। इस दौरान आपके व्यक्तित्व में ऐसा आकर्षण पैदा होगा कि आप अपनी मर्जी अनुसार कार्य करवा पाएंगे। कार्यस्थल पर आपके अधीन कार्य करने वाले आपको पूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे।
कुंभ : ग, स, श- अनावश्यक खर्चों पर अब लगाम लगने वाली है। मंगल आपको धनलाभ करवाएगा। पैसों की बचत कर पाएंगे। नौकरीपेशा लोगों के लिए समय अच्छा रहने वाला है। संपत्ति खरीद सकते हैं। पैतृक संपत्ति की वजह से जो भी विवाद चल रहा है वो खत्म होने के योग हैं। प्रेम संबंध अच्छे रहेगे
मीन : द, च – मार्गी होना आपके लिए धन वृद्धि के योग बना रहा है। आपकी राशि के आय के साधनों में वृद्धि हो सकती है। एक से अधिक स्त्रोत से पैसा आ सकता है, यानि अचानक धनलाभ भी हो सकता है।
– आचार्य पंडित संतोष भार्गव

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF