ममता बनर्जी ने की देश में चार राजधानी बनाने की मांग, कहा- केवल एक ही राजधानी क्यों

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 23-01-2021 / 4:44 PM
  • Update Date: 23-01-2021 / 4:44 PM

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले सियासी घमासान मचा हुआ है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल पहुंच रहे हैं तो तृणमूल कांग्रेस के मुखिया और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मौके पर कोलकाता में शक्ति प्रदर्शन किया।

ममता बनर्जी ने कोलकाता में करीब 8 किलोमीटर लंबा रोड शो निकाला और फिर जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी पर हमला है। इस दौरान ममता बनर्जी ने देश में 4 राजधानियों की मांग की।

ममता बनर्जी ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमने आज देशनायक दिवस मनाया है। उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा पराक्रम दिवस मनाए जाने पर भी सवाल उठाया और कहा कि ये पराक्रम क्या है?

उन्होंने नेताजी की जयंती को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग की। ममता ने कोलकाता के महत्व को रेखांकित किया और कहा कि देश में 4 रोटेटिंग राजधानियां होनी चाहिए। हमारे देश में केवल एक ही राजधानी क्यों होनी चाहिए?

उन्होंने कहा कि नेताजी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता और उन्हें सही मायने में समझने की जरूरत है। ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार भी हमला बोला और कहा कि केंद्र सरकार ने इस अवसर पर आज छुट्ठी की घोषणा क्यों नहीं की। उन्होंने कहा कि नेता जी की मौत की मिस्ट्री को सुलझाना होगा, उनकी मौत का रहस्य उजागर होना चाहिए।

बनर्जी ने कहा, ऐसा नहीं है कि हम हम नेताजी की जयंती केवल उन वर्षों में ही मनाते हों जिस वर्ष चुनाव होने वाले हैं। उनकी 125वीं जयंती हम बहुत बड़े पैमाने पर मना रहे हैं। रवीन्द्रनाथ टैगोर ने नेताजी को देशनायक बताया था। इसलिए हमने इस दिन को देशनायक दिवस बनाने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा, नेताजी देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। वह एक महान दार्शनिक थे। बनर्जी ने केंद्र से नेताजी की जयंती को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग की। करीब सात किलोमीटर लंबे जुलूस का समापन रेड रोड पर स्थित नेताजी की प्रतिमा पर हुआ और ममता बनर्जी ने जनसभा को संबोधित किया।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF