मालदीव ने किया FTA समझौता, इकनॉमी पर पड़ेगा बुरा प्रभाव

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 19-12-2017 / 2:38 PM
  • Update Date: 19-12-2017 / 2:38 PM

माले। मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यमीन ने हाल ही में चीन जाकर दोनों देशों के बीच मुक्त व्यापार समझौता (FTI) पर हस्ताक्षर किए थे। मालदीव के राष्ट्रपति और चीन ने इस महत्वपूर्ण समझौते पर भले ही हस्ताक्षर कर आपसी सहमति बना ली है, लेकिन इसे लागू करने में आगे परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। दोनों देशों के बीच हुए इस समझौते को लेकर ना सिर्फ मालदीव के विपक्ष ने आपत्ति जताई है, बल्कि वहां के व्यापारी समुदाय भी इसके विरोध में उतर आए हैं।

मालदीव के लोगों को मानना है कि मुक्त व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर करने से सिर्फ चीन को फायदा होने वाला है और इससे मालदीव इकनॉमी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा। मालदीव के व्यापारी इस समझौते से बेहद नाराज है और चीन पर अपना एजेंडा चलाने के आरोप लगाया है।

मालदीव में विपक्ष और वहां के व्यापारी समूदाय के लोगों का मानना है कि राष्ट्रपति यमीन ने चीन के दबाव में आकर इस समझौते पर हस्ताक्षर किया है। उनके अनुसार, इस डील से मालदीव में कई प्रोजेक्ट्स को चीनी कंपनियों को सौंपने की योजना बनाई जा रही है।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF