महाराष्ट्र सरकार ने फडणवीस, अठावले सहित कई नेताओं की घटाई सुरक्षा

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-01-2021 / 6:57 PM
  • Update Date: 10-01-2021 / 6:57 PM

मुंबई। शिवसेना के नेतृत्व वाली महाविकास आघाड़ी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए कई बड़े नेताओं की सुरक्षा, समेत उनके काफिले की सिक्योरिटी को घटा दिया है। यह फैसला इन सभी नेताओं की सुराक्षा की समीक्षा की जाने के बाद यह फैसला लिया गया है।

जिसमें महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, एमएनएस चीफ राज ठाकरे, केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले, भाजपा नेता चंद्रकांत पाटिल, प्रवीण दरेकर, प्रसाद लाड और अन्य प्रमुख विपक्षी नेताओं की सुरक्षा में कटौती की गई है।

जबकि पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा और सरकारी अधिवक्ता उज्ज्वल निकम की सुरक्षा बढ़ाई गई है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने राज्य सरकार के इस निर्णय का कड़ा विरोध किया है। भाजपा प्रवक्ता राम कदम ने कहा कि यह सब बदले की भावना से किया गया है।

सूत्रों ने रविवार को बताया कि राज्य सरकार ने फडणवीस और राज ठाकरे की जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा घटाकर वाई-प्लस की एस्कार्ट सहित सुरक्षा दी है। एम.एल. तहिलयानीव, जी.ए. सानप को मिली जेड श्रेणी की सुरक्षा घटाकर वाई श्रेणी की कर दी गयी है। फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस और बेटी दिविजा की एस्कार्ट सहित वाई प्लस श्रेणी को सुरक्षा घटाकर एक्स श्रेणी की कर दी गयी है।

राज्य के पूर्व गृह राज्य मंत्री दीपक केसरकर की वाई प्लस सुरक्षा हटाकर वाई, पूर्व मंत्री आशीष शेलार और पूर्व राज्यपाल राम नाईक की सुरक्षा वाई-प्लस से वाई श्रेणी की कर दी गयी है। राज्य सरकार ने अंबरीश अत्राम, चंद्रकांत पाटील, संजय बंडसोड़े, सुधीर मुनगंटीवार, नारायण राणे, रावसाहेब दानवे, राजकुमार बडोले, हरिभाऊ बडोले, राम कदम, प्रसाद लाड, मारोतराव कोवासे, शोभाताई फडणवीस, कृपाशंकर सिंह, माधव भंडारी को दी गई सुरक्षा हटा ली है।

राज्य सरकार ने वस्त्रोद्योग मंत्री असलम शेख की भी सुरक्षा कम कर दी है। इसी तरह विधानपरिषद के सभापति रामराजे निंबालकर, मंत्री विजय वडेट्टीवार, वैभव नाईक, संदीपन भुमरे, अब्दुल सत्तार, दिलीप वलसे पाटील, सुनील केदार आदि को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि राज्य में सुरक्षा नेताओं को मिलने वाली धमकी को देखकर दी जाती है। कई ऐसे भी नेता हैं जिनको बिना किसी खतरे अथवा धमकी के ही राज्य सरकार ने सुरक्षा दी है।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF