अंतरिक्ष में बनेगा दुनिया का पहला लक्जरी होटल, जाने से पहले होगी ट्रेनिंग

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-04-2018 / 9:19 PM
  • Update Date: 10-04-2018 / 9:19 PM
वॉशिंगटन। अगर आप अंतरिक्ष से धरती की खूबसूरती का आनंद लेना चाहते हैं तो अपना यह सपना महज चार साल बाद आसानी से पूरा कर सकेंगे। स्पेस टेक्नॉलॉजी पर काम करने वाली अमेरिकी कंपनी ओरियन स्पैन दुनिया का पहला स्पेस लक्जरी होटल खोलने की तैयारी में है। धरती से तीन सौ किलोमीटर दूर अंतरिक्ष में स्थापित होने वाला यह अपनी तरह का पहला होटल होगा। कैलिफोर्निया के सैन जोस में संपन्न स्पेस 2.0 सम्मिट में यह जानकारी दी गई।
कंपनी के मुताबिक एक बार में छह लोग अंतरिक्ष में जाकर इस होटल का आनंद  उठा सकेंगे। इनमें दो क्रू सदस्य भी शामिल होंगे। दरअसल, ये पूरा मॉड्यूलर स्पेस स्टेशन होगा। इस स्पेस स्टेशन पर जाने वालों का सफर कुल 12 दिन का रहेगा।
कंपनी का दावा है कि वह 2022 तक पहला समूह भेज देगी। कंपनी ओरियन स्पैन के सीईओ और संस्थापक फ्रैंक बंगर का कहना है उनका लक्ष्य अंतरिक्ष को सभी की पहुंच में लाना है। हालांकि उक्त होटल में जाने के इच्छुक व्यक्ति को मोटी रकम खर्च करना होगी। अनुमानत: 12 दिन के सफर के लिए 95 लाख डॉलर, यानी करीब 62 करोड़ रुपए खर्च आएगा।
जाने से पहले होगी ट्रेनिंग
कंपनी के सीईओ के मुताबिक स्पेस स्टेशन पर पहुंचने के लिए पहले यात्रियों को 24 महीने की ऐतिहासिक ट्रेनिंग से गुजरना होता था, लेकिन इसे कम करके तीन महीने कर दिया गया है। यात्रियों को अंतरिक्ष में जाने से पहले तीन महीने ओरियन एस्ट्रोनॉट सर्टिफिकेशन प्रोग्राम के लिए जाना होगा। जहां स्पेस प्रोग्राम से जुड़े पुराने दिग्गजों की टीम उन्हें इसके लिए ट्रेंड करेंगे।
24 घंटे में 16 बार सूर्योदय-सूर्यास्त
अंतरिक्ष में जाने के बाद ये स्टेशन महज 90 मिनट में धरती का एक चक्कर पूरा कर लेगा। इसका मतलब कि आपको 24 घंटे के अंदर 16 बार सूर्यादय और सूर्यास्त देखने को मिलेगा। ये स्टेशन धरती से तीन सौ किमी की ऊंचाई पर मौजूद होने से धरती खूबसूरत नीले रंग में दिखाई देगी।
कर सकेंगे वीडियो कॉलिंग
कंपनी के अनुसार अंतरिक्ष में सफर करने वाले यात्रियों को जीरो ग्रेविटी के साथ हाईस्पीड इंटरनेट मिलेगा। इससे वे धरती पर मौजूद अपने रिश्ते-नातेदारों से वीडियो कॉलिंग कर सकेंगे। इसके अलावा स्पेस स्टेशन में अलग-अलग एक्टिविटी को भी अंजाम दिया जाएगा। वहां अंतरिक्ष में खाना उगाने से जुड़ी रिसर्च एक्सपेरिमेंट का हिस्सा बनने को मिलेगा।
Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF