चमकी बुखार का कहर, 107 बच्चों की मौत, मुजफ्फरपुर पहुंचे नीतीश कुमार

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 18-06-2019 / 2:12 PM
  • Update Date: 18-06-2019 / 2:12 PM

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश मंगलवार को एईएस के पीड़ित बच्चों से मिलने के लिए मुजफ्फरपुर के एचकेएमसीएच अस्पताल पहुंचे। मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से कई मांओं की कोख सूनी हो गई है। अभी तक सामने आए आंकड़ों में 107 बच्चों के मरने खबर है। साथ ही अस्पताल में भर्ती बीमार बच्चों की संख्या बढ़कर 414 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन अस्पलात का दौरा करने गए थे, लेकिन इस चमकी बुखार का प्रकोप ऐसा था कि उनकी सामने ही एक बच्चे की मौत हो गई। मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है, आखिरकार 107 बच्चों के मरने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भी नींद टूट गई है।

बिहार में फैली इस महामारी के चलते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को उच्चस्तरीय बैठक की। जिसके बाद मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया, सरकार ने फैसला किया है कि उनकी टीम हर उस घर में जाएगी जिस घर में इस बीमारी से बच्चों की मौत हुई है, टीम बीमारी के बैक ग्राउंड को जानने की कोशिश करेगी, क्योंकि सरकार अब तक यह पता नहीं कर पाई है कि आखिर इस बीमारी की वजह क्या है।

कई विशेषज्ञ इसकी वजह लीची वायरस बता रहे हैं, लेकिन कई ऐसे पीड़ित भी हैं, जिन्होंने लीची नहीं खाई। नीतीश कुमार ने इस बैठक में फैसला लिया कि बीमार बच्चों के पूरे इलाज का खर्चे सरकार सरकार उठाएगी, और इस प्रकोप से प्रभावित बच्चों को निशुल्क एंबुलेंस मुहैया कराई जाएगी। वहीं इस बीमारी से मरने वालों के परिजनों को 4 लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF