करवाचौथ पर डायबिटीज के मरीज जरूर रखें इन बातों को ध्यान

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 06-10-2017 / 7:41 PM
  • Update Date: 06-10-2017 / 8:18 PM

करवाचौथ की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। उस दिन कौन सी ड्रेस पहनी जाना है, यह तय हो चुका है। सजन-संवरने के लिए ब्यूटी सैलून बुक हो चुके हैं। बहरहाल, हम यहां बताएंगे कि डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं को करवा चौथा व्रत के दौरान किन खास बातों को ध्यान रखना चाहिए। करवा चौथ का व्रत अन्य व्रतों से अलग है, क्योंकि इस दौरान पानी भी नहीं पिया जाता है।

– यदि आप टाइप 1 या टाइप 2 डायबिटीज की शिकार हैं तो उपवास शुरू होने से पहले क्या खाना है, यह आपके लिए बहुत अहम है। डायटिशियन सलाह देते हैं कि उचित काबोर्हाइड्रेट्स वाले पदार्थ लिए जाने चाहिए। मल्टी-ग्रेन आटे की रोटियां खाएं। इससे उपवास के दौरान ब्लड शुगर लेवर कम होने का खतरा नहीं रहेगा।

– दूध और ड्राय फ्रुट्स भी अच्छा विकल्प हैं। करवा चौथे के खास दिन से पहले इनका सेवन करते समय हाई ब्लड शुगर की चिंता को अलग रख दिया जाना चाहिए, क्योंकि आप दिनभर भूखा रहेंगी तो ब्लड शुगर लेवल तो कम होगा ही।

– ब्लड शुगर को मैंटेन रखने के लिए फायबर युक्त पदार्थ खाए जा सकते हैं। खीर से भी आपको ताकत मिलेगी। इससे आपका शरीर दिनभर के उपवास के लिए तैयार हो सकेगा।

– टाइप 2 डायबिटीज वाली महिलाओं को सलाह दी जाती है कि वे करवा चौथ वाले दिन सुबह अपनी दवाएं न लें, क्योंकि शाम या रात तक ब्लड शुगर लेवल तो अपने आप कम हो जाएगा। यदि दवा लेना बहुत जरूरी है तो इस बारे में डॉक्टर की सलाह ली जाना चाहिए।

– उपवास के दौरान ध्यान दें कि आपका शुगर लेवल किसी भी स्थिति में 70 एमजी से कम नहीं होना चाहिए। ऐसा होता है तो तुरंत ज्यूस लें। शाम चार बजे पूजा करने के बाद तरल पदार्थ लिया जा सकता है। ज्यादा हालत बिगड़े तो फलाहाल खा लें।

ऐसे तोड़ें उपवास
चूंकि आपने दिनभर के कुछ नहीं खाया है, इसलिए उपवास कैसे तोड़ना है, यह बहुत महत्वपूर्ण है। मिठाई से उपवास तोड़ना अच्छा रहेगा। इससे आपका ब्लड शुगर लेवल सामान्य हो जाएगा। इसके बाद हल्का भोजन करें।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF