दुश्मनों को कारगिल की तरह देंगे मुंहतोड़ जवाब: राजनाथ सिंह

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 26-07-2020 / 5:34 PM
  • Update Date: 26-07-2020 / 5:34 PM

नई दिल्‍ली। भारतीय सेना के शौर्य और साहस का प्रतीक कारगिल विजय दिवस 26 जुलाई को मनाया जाता है। इस साल विजय दिवस की 21वीं वर्षगांठ है। इस मौके पर देश के रक्षामंत्री ने देश के लिए प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए नमन किया। रक्षा मंत्री ने नेशनल वार मेमोरियल पर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए माल्यार्पण किया।

राजनाथ सिंह ने कहा, यह दिवस ऑपरेशन विजय की सफलता के लिए मनाया जाता है। सशस्त्र बलों द्वारा साल 1999 में कारगिल- द्रास सेक्टर में पाकिस्तानी घुसपैठियों द्वारा कब्जे में लिए गए भारतीय क्षेत्रों पर वियज प्राप्त करने के लिए शुरू किए गए ऑपरेशन का नाम ऑपरेशन विजय रखा गया था।

रक्षा मंत्री ने कहा मैं उन लोगों का भी आभारी हूं, जो युद्ध में अक्षम होने के बावजूद, अपने तरीके से देश की सेवा करते रहे और राष्ट्र के लिए अनुकरणीय उदाहरण बनते रहे। हमारे सशस्त्र बलों के अटूट साहस और देशभक्ति ने यह सुनिश्चित किया है कि भारत सुरक्षित है।

उन्होंने कहा कि कारगिल विजय दिवस केवल एक दिन नहीं है बल्कि भारतीय सेना के शौर्य और पराक्रम का विजयोत्सव है। राष्ट्रीय सुरक्षा के दायरे में हम जो कुछ भी करते हैं, वह हमेशा आत्मरक्षा के लिए करते हैं, आक्रमण के लिए नहीं। रक्षामंत्री ने इस मौके पर चीन और पाकिस्तान को संदेश देते हुए कहा कि अगर दुश्मन देश ने कभी हमारे ऊपर आक्रमण किया, तो हमने यह भी साबित कर दिया कि कारगिल की तरह हम उसे मुंहतोड़ जवाब देंगे।

राजनाथ सिंह ने ये भी कहा कि हाल ही में मुझे लेह-लद्दाख जाने और वहां से कारगिल के वीर सपूतों को श्रद्धांजलि देने का अवसर प्राप्त हुआ था। मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि 20 सा पहले के मुकाबले मैंने लद्दाख़ में बहुत बड़ा बदलाव देखा है।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF