जामिया हिंसा: दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस और केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 17-02-2020 / 1:36 PM
  • Update Date: 17-02-2020 / 1:36 PM

नई दिल्ली। जामिया हिंसा मामले में घायल छात्र शय्यान मुजीब द्वारा 2 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग करने वाली याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने सुनवाई की। हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार, दिल्ली पुलिस और दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया है। छात्र ने अपनी याचिका में कहा है कि वह पुस्तकालय में बैठा था, पुलिस ने उसके साथ मारपीट की, जिससे दोनों पैर उसके फ्रैक्चर हो गए। इलाज में 2.5 लाख खर्च हुए हैं।

कोर्ट ने इस मामले के सुनवाई की अगली तारीख चार फरवरी तय की है। याचिकाकर्ताओं के वकील ने कोर्ट से गुजारिश की कि सुनवाई जल्दी की जाए और इतने दिन बाद का समय निर्धारित न किया जाए। हालांकि कोर्ट ने उनकी ये मांग स्वीकार नहीं की।

बता दें, जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के ऐसे छात्रों के खिलाफ व्यापक पुलिस अत्याचार की खबरें आई हैं जो नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस लाठीचार्ज में कई छात्र घायल हो गए। कई लोगों को बीते रविवार रात हिरासत में ले लिया गया था। हालांकि दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर रविवार देर रात बड़े विरोध प्रदर्शन के बाद छात्रों को रिहा कर दिया गया था।

जामिया के छात्रों ने मीडिया को बताया कि पुलिस लाइब्रेरी में भी घुस आई थी और उसके अंदर आंसू गैस के गोले दागे और वहां बैठे लोगों पर हमला किया। जामिया के मुख्य प्रॉक्टर ने पुलिस पर छात्रों एवं कर्मचारियों को पीटने एवं बिना इजाजत के जबरदस्ती कैंपस में घुसने का आरोप लगाया है। पुलिस की बर्बर कार्रवाई में एक छात्र के आंख की रोशनी चली गई और कई गंभीर रूप से घायल हैं और अस्पताल में भर्ती हैं।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF