INX मीडिया केस: सुप्रीम कोर्ट में चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 05-09-2019 / 12:47 PM
  • Update Date: 05-09-2019 / 12:47 PM

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता पी. चिदंबरम की रिहाई की उम्मीदों पर पानी फिर गया है। सुप्रीम कोर्ट ने INX मीडिया केस में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की गिरफ्तारी के खिलाफ उनकी अग्रिम जमानत की याचिका गुरुवार को खारिज कर दी। इसका मतलब यह है कि ईडी चिदंबरम की औपचारिक गिरफ्तारी करके पूछताछ के लिए रिमांड पर ले सकती है। चिदंबरम की सीबीआई हिरासत आज खत्म हो रही है।

चिदंबरम ने ईडी द्वारा दर्ज INX मीडिया केस में अग्रिम जमानत नहीं देने के दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। उच्चतम न्यायालय ने चिदंबरम की इस याचिका पर 29 अगस्त को अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था। आज जस्टिस आर भानुमति और जस्टिस एएस बोपन्ना की पीठ ने कहा कि यह मामला अग्रिम जमानत देने के योग्य नहीं है। न्यायालय ने कहा कि इस समय चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से जांच बाधित होगी।

शीर्ष अदालत ने कहा कि जांच एजेंसी को मामले की छानबीन करने के लिए पर्याप्त स्वतंत्रता दी जानी चाहिए। इससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने ईडी की ओर से दर्ज INX मीडिया केस में उन्हें अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया था। इसके अलावा सीबीआई द्वारा दर्ज भ्रष्टाचार मामले में हिरासत में पूछताछ के लिए निचली अदालत द्वारा जारी रिमांड ऑर्डर को भी चुनौती दी गई थी। हाई कोर्ट ने इस याचिका को भी खारिज कर दिया था।

सीबीआई ने उन्हें 21 अगस्त की रात को गिरफ्तार किया था। चिदंबरम विशेष अदालत के आदेश पर 15 दिनों से सीबीआई हिरासत में हैं। निचली अदालत से भी चिदंबरम की किस्मत का फैसला होना है जिसने एयरसेल-मैक्सिस डील घोटाले में सीबीआई और ईडी द्वारा दर्ज मामलों में अग्रिम जमानत याचिकाओं पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था।

उधर, चिदंबरम ने सीबीआई द्वारा दर्ज आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में निचली अदालत के गैर-जमानती वारंट, हिरासत संबंधी आदेशों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर अपनी याचिका वापस ले ली। चिदंबरम के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट से कहा कि उन्होंने याचिका बिना शर्त वापस लेने का निर्णय किया है। न्यायालय ने इसकी अनुमति दे दी।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF