इंदौर: पिकनिक स्थल पर नहीं जा सकेंगे लोग, प्रशासन ने लगाई रोक

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 11-07-2020 / 6:20 PM
  • Update Date: 11-07-2020 / 6:20 PM

इंदौर। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते अभी भी इंदौर रेड जोन में बना हुआ है। संक्रमण के खतरे को देखते हुए जिले के पिकनिक स्थल पर जाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। दरअसल मानसून शुरु होते ही इन पिकनिक स्थलों पर सैर-सपाटे के लिए लोगों की भीड़ उमड़ने लगी है। इसी के मद्देनजर ये रोक लगाई गई है क्योंकि पर्यटकों की भीड़ के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पाएगा जिससे कोरोना का खतरा और बढ़ जाएगा।

अधिकारियों ने बताया कि जिलाधिकारी मनीष सिंह ने शनिवार को इस आशय का आदेश जारी किया। आदेश में कहा गया कि जिले के सभी पिकनिक स्थल आगामी आदेश तक सप्ताह के सातों दिन बंद रहेंगे और प्रशासनिक आदेश का उल्लंघन कर वहां तफरीह के लिये पहुंचने वाले लोगों को संबद्ध कानूनी प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया जायेगा।

अधिकारियों ने बताया कि मॉनसूनी बारिश के बीच पिछले कुछ दिनों से जिले के पातालपानी, चोरल, कालाकुंड और अन्य पिकनिक स्थलों में सैलानियों की खासी भीड़ देखी जा रही है। जिलाधिकारी के आदेश में कोविड-19 से बचाव के उपाय अपनाये जाने की जरूरत पर जोर देते हुए कहा गया, यह भी देखने में आ रहा है कि कुछ लोगों द्वारा घरों और फार्म हाउसों में पार्टियां आयोजित की जा रही हैं।

जिनमें शामिल लोग शारीरिक दूरी के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन कर रहे हैं और वे मास्क पहनने की सावधानी भी नहीं रख रहे हैं। कोविड-19 के बढ़ते मामलों से चिंतित प्रदेश सरकार हर रविवार को इंदौर समेत सभी 52 जिलों में पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा पहले ही कर चुकी है।

इस बीच, इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने बताया कि जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान 89 नये मामले मिलने के बाद इस महामारी के मरीजों की तादाद बढ़कर 5,176 पर पहुंच गयी है। जिले में अब तक कुल 261 मरीज कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आकर दम तोड़ चुके हैं, जबकि 3,956 लोग इलाज के बाद कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं।

उन्होंने बताया कि हाल के दिनों में जिले में कोविड-19 के रोजाना मिलने वाले मामलों की संख्या में इजाफा देखा गया है, जिसके बाद इस महामारी से संघर्ष के प्रयास तेज कर दिये गये हैं। जिले में कोविड-19 के प्रकोप की शुरुआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों के कोरोना वायरस से संक्रमण की पुष्टि हुई थी।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF