मुझे खुद पर भरोसा था और मैंने खुद को उंचाई तक पहुँचा दिया!

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 01-03-2021 / 5:46 PM
  • Update Date: 01-03-2021 / 5:46 PM

सोनचिरैया में अपनी ज़बरदस्त अदाकारी के बारे में भूमि पेडनेकर का कहना है

युवा बॉलीवुड स्टार भूमि पेडनेकर के लिए, अभिषेक चौबे की सोनचिरैया हमेशा एक ऐसा प्रॉजेक्ट रहेगी जिसने उन्हें एक कलाकार के तौर पर क़ीमती सबक सिखाए हैं!

फिल्म रिलीज़ होने की दूसरी सालगिरह पर, भूमि ने कहा, “सोनचिरैया मेरे फिल्मी करियर में हमेशा एक ख़ास फिल्म रहेगी क्योंकि इसने मुझे एक बेहद क़ीमती सबक सिखाया है। इसने मुझे सपने देखने, नई तलाश करने और एक कलाकार के तौर पर हर फिल्म के साथ बड़े जोखिम उठाने को कहा।

अभिषेक चौबे ने मुझे वो सबकुछ दिखाया जो मैं हासिल कर सकती हूँ अगर मैं खुद पर भरोसा करूँ और खुद को आख़िरी हद तक ले जाऊँ तो। एक कलाकार के रूप में मुझ पर विश्वास करने के लिए मैं उनका शुक्रिया अदा करती हूँ।”

सोनचिरैया में उनकी अदाकारी के लिए भूमि को एक कलाकार के तौर पर जो प्यार और इज़्ज़त मिली है वो उन्हें बहुत अच्छा लगा। उनका कहना है, “सोनचिरैया जैसी फिल्में बहुत कम बनती हैं, जो किसी कलाकार की ज़िंदगी में बस एक बार ही आती है और मैं किस्मतवाली हूँ कि मुझे यह प्रोजेक्ट करने का मौका मिला। इस फिल्म को लेकर अभिषेक चौबे का नज़रिया इतना अलग और असली था कि इसने वाक़ई मेरे होश उड़ा दिए। इस प्रॉजेक्ट के लिए मुझे दुनिया भर के लोगों से जो प्यार और इज़्ज़त मिली है, वह वाकई काबिलेतारीफ है।”

इस युवा अदाकारा का कहना है कि वह इस बात के लिए भी शुक्रगुज़ार हैं कि उन्हें स्वर्गीय सुशांत सिंह राजपूत और सोनचिरैया के सभी बेहतरीन कलाकारों के साथ काम करने का मौका मिला। “इसके अलावा, मुझे इस फिल्म के कारण सुशांत सिंह राजपूत जैसे रचनात्मक इंसान के साथ मिलने और काम करने का मौका मिला। वे एक बहुत ही अच्छे इंसान और एक मेहनती कलाकार थे। उनके साथ नोट्स का लेन-देन करने का अनुभव मेरे लिए सबसे अच्छा था। सोनचिरैया ने मुझे उन बेहतरीन कलाकारों और लोगों के साथ काम करने का मौका दिया है जिन्हें मैं दिल से पसंद करती हूँ। सोनचिरैया की भूमिका निभाने वाली छोटी बच्ची, खुशिया और सुशांत के साथ काम करने की वजह से ये एक ऐसा अनुभव है कि जिसे मैं और भी ज़्यादा संजो कर रखूँगी। खुशिया हमेशा के लिए मेरी जिंदगी का हिस्सा बन गई हैं।’

भूमि का कहना है कि बॉलीवुड में सुशांत जैसा दिमाग ‘बहुत ही काम देखने को मिलता है। वे कहती हैं, ”सुशांत एक दोस्त बन गया और वो एक ऐसा इंसान था जिसकी मैं बहुत जल्दी सराहना करने लग गई थी। वह एक बेहद ख़ास इंसान था और कभी न थकने वाले दिमाग वाला अदाकार था। सचमुच हम सेट पर सबसे अच्छा वक़्त बिताते थे। हमारे सोनचिरैया के पूरे अनुभव के दौरान ज़हीन विचारों वाले उनके नायाब दिमाग ने मुझे बहुत प्रभावित किया था।”

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF