हिंदू धर्म लोगों से प्रेम करना सिखाता है, न कि भेदभाव: ममता बनर्जी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 12-09-2018 / 5:56 PM
  • Update Date: 12-09-2018 / 5:56 PM

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सहिष्णुता हिंदू धर्म का एक गुण है, हिंदू धर्म सर्वव्यापी है। बनर्जी ने स्वामी विवेकानंद के शिकागो में ऐतिहासिक भाषण की 125वीं वर्षगांठ के मौके पर रामकृष्ण मिशन की ओर से बेलुर मठ में मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, बंगाल सहिष्णुता की भूमि है। हिंदू धर्म लोगों से प्रेम करना सिखाता है, न कि भेदभाव। आगे आयें और देश में नयी जागृति का नेतृत्व करें। उन्होंने कहा कि वह शिकागो जाना चाहती थी लेकिन दुर्भाग्य से उस जगह नहीं जा सकी जहां स्वामीजी ने ऐतिहासिक भाषण दिया था।

उन्होंने कहा, इसके पीछे गहरी साजिश रची गयी थी। कुछ लोग चाहते थे कि मैं वहां न जाऊं। मैं आशा करती हूं कि जिन ताकतों ने मुझे वहां जाने से रोका वे स्वामी विवेकानंद के भाषण को पढ़ेंगे। रामकृष्ण मिशन ने मुख्यमंत्री को शिकागो के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। कार्यक्रम को हालांकि अपरिहार्य परिस्थितियों में जून में रद्द कर दिया गया। बनर्जी ने कहा स्वामी विवेकानंद, गुरु रवीद्रनाथ टैगोर और नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने धर्म और राजनीति को लेकर जो आदर्श अपनाये थे, उनमें काफी समानता थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामीजी ने 1893 में शिकागो के भाषण में सबका दिल जीत लिया था।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF