गुरु पूर्णिमा पर लगेगा साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें किन राशियों पर कैसा रहेगा प्रभाव

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 13-07-2019 / 7:11 PM
  • Update Date: 13-07-2019 / 7:11 PM

गुरु पूर्णिमा पर यानि 16-17 जुलाई को चंद्रग्रहण का संयोग है। बताया जाता है कि यह दुर्लभ संयोग 149 साल के बाद आया है जब गुरू पूर्णिमा और चंद्रग्रहण एक साथ है। इस दौरान एक विशेष दुर्लभ संयोग बन रहा है। भारत समेत यूरोप, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका में चंद्र ग्रहण को देखा जा सकेगा।

12 और 13 जुलाई 1870 को भी गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लगा था। चंद्र ग्रहण के सूतक के कारण शाम के बाग गुरु पूजा के विधान प्रभावित हो जाएंगे। 16 जुलाई की रात 1.31 बजे चंद्र ग्रहण का स्पर्श होगा और मध्य तीन बजे व मोक्ष रात 4.30 बजे होगा। भारत में चंद्र ग्रहण की अवधि दो घंटे 59 मिनट रहेगी। चंद्र ग्रहण का सूतक शुरू होने से 9 घंटे पहले ही लग जाएगा। जबकि सूर्य ग्रहण का 12 घंटे पहले लग जाता है।

इस चंद्र ग्रहण का सूतक 16 जुलाई दोपहर 1.30 बजे से शुरू हो जाएगा जो 17 जुलाई सुबह 4.31 पर खत्म होगा। ज्योतिषियों के अनुसार, चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा के दिन है, साथ ही मंगलवार भी है और उत्तर आषाढ़ नक्षत्र है। इस ग्रहण के चलते देश में प्राकृतिक आपदा, राजनीति में उथल-पुथल होने की संभावनाएं हैं। इस दिन ग्रहण का आम लोगों पर काफी असर बताया गया है।

किस राशि पर कैसा होगा ग्रहण का असर-

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण काफी फलदायी हो सकता है। मेष राशि के लोगों को इस दिन अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना जरूरी है। वाद विवाद से दूर रहे। इस चंद्र ग्रहण आपको कार्यक्षेत्र में प्रगति होगी और लाभ मिलने के भी संकेत हैं।

वृषभ

वृषभ राशि वाले लोगों के लिए यह ग्रहण मध्यम फलदायी होगा। इस दौरान आपको अपने संतान के भविष्य को लेकर अधिक चिंता रहेगी। इसके अलावा आपको बनते कामों में समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है। शेयर निवेश के जोखिमों से दूर रहें।

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के लिए इस बार चंद्र ग्रहण से काफी लाभ हो सकता है। शत्रुभय से मुक्ति मिलेगी और नौकरी करने वाले लोगों को प्रमोशन मिलने की संभावना है। बेमतलब के खर्चों से बचें और साझेदारी के काम में नुकसान हो सकता है।

कर्क

इस बार कर्क राशि के लोगों के लिए चंद्र ग्रहण शुभ समाचार लेकर आ सकता है। साथ
ही धन संबंधी मामले में नुकसान को झेलना पड़ सकता है।

सिंह

इन राशि के लोगों के लिए चंद्र ग्रहण प्रतिकूल फलदायी रहेगा। इस चंद्र ग्रहण लोगों को किसी भी दुर्घटना से सजग रहने की आवश्यकता है। गुप्तरोग की शिकायत हो सकती है साथ ही कार्यक्षेत्र में अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है।

कन्या

इस राशि के जातकों के लिए ग्रहण एक संकेत दे रहा है कि लोगों को ज्यादा व्यर्थ के खर्चों से बचे। अपना व्यवहार अच्छा रखें नहीं तो बूरा हो सकता है। इसके अलावा कार्य में विलंब भी देखने के संकेत हैं।

तुला

तुला राशि में इस बार चंद्र ग्रहण फायदेमंद वाला साबित होगा। इस ग्रहण लोगों के सभी काम पूरे होंगे और धन लाभ के भी संकेत हैं। शुभ समाचार की प्राप्ति हो सकती है और साथ ही आपके कार्य की प्रशंसा होने की पूरी उम्मीद है।

वृश्चिक

इस राशि के लोगों को चंद्र ग्रहण एक मिश्रित परिणाम दे सकता है। धन लाभ की संभावना है लेकिन खर्चे ज्यादा होंगे जिसे बचत गड़बड़ा सकता है। इसके अलावा आपके सभी कार्य योजनानुसार हो सकते हैं।

धनु

इस राशि के जातकों के लिए ग्रहण मूलरूप से फलदायी होगा। इस दौरान लोगों को अपने कार्य में ध्यान देने की जरूरत है। शेयर-सट्टे से दूरी बनाएं नहीं तो धन की हानि हो सकती है।

मकर

इस राशि के जातकों के लिए पारिवारिक जीवन के मामले में ये ग्रहण फलदायी साबित हो सकते हैं। वाहन से दूर रहें नहीं तो चोट लगने के ज्यादा से ज्यादा संकेत हैं। इस राशि के लोगों को स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

कुंभ

इस राशि के लोगों के लिए चंद्र ग्रहण एक अच्छे संकेत दे रहा है। आर्थिक क्षेत्रों से बचें नहीं तो नुकसान के पूरे संकेत हैं। घर का वातावरण अच्छा रहे, इसका विशेष ध्यान रखें। परिजनों के साथ मन मुटाव के संकेत बन रहे हैं।

मीन

मीन राशि के जातकों को चंद्र ग्रहण से कई लाभ मिलेगा। साथ ही प्रिय व्यक्ति का भी साथ मिल सकता है। शेयर निवेश करने से लाभ के आसार ज्यादा हैं। मेहनत के अनुपात में लाभ अवश्य प्राप्त होगा। सामाजिक और आर्थिक रूप से सम्मान मिलने की उम्मीद है।

चंद्र ग्रहण के दौरान और बाद में बरतें ये सावधानियां-

-सोने, चांदी व तांबे के नाग का काले तांबे की प्लेट में रखकर दान करना शुभ माना जाता है।

-चंद्रग्रहण पर दान पुण्य करना चाहिए इसका अधिक लाभ मिलता है।

-ग्रहण खत्म होने के तुरंत बाद स्नान करना चाहिए। उसके बाद जिन चीजों को आप दान करना चाहते हो तो उन्हें स्पर्श कर रख दें और अगले दिन दान कर दें।

-स्नान के बाद पूरे घर और मंदिर की साफ सफाई करनी चाहिए।

-सूतक काल में पूजा-पाठ करने से बचना चाहिए।

-ग्रहण के समय खाना खाने से भी बचना चाहिए। इस दौरान ग्रहण किया गया भोजन अशुद्ध हो जाता है।

-जिन चीजों को फेंका नहीं जा सकता उन खाने पीने की चीजों में तुलसी की पत्ती डाल दें।

-गर्भवती स्त्रियों को ग्रहण काल घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। ग्रहण के समय निकलने वाली नकारात्मक किरणें माता और शिशु के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF