पेनकिलर के अधिक सेवन से हो सकती हैं ये बीमारियां

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 13-02-2020 / 8:05 AM
  • Update Date: 13-02-2020 / 8:05 AM

नई दिल्ली। कुछ लोगों को आदत होती है कि वह छोटे-मोटे दर्द के लिए भी पेनकिलर का इस्तेमाल करते हैं। कहते हैं कि जब तक दर्द बहुत ज्यादा न हो उसे बर्दाश्त करना आना चाहिए। जब लगे कि दर्द हद से ज्यादा बढ़ गया है और असहनीय है तभी पेनकिलर खाना चाहिए। पेनकिलर खाने से कहीं गुना ज्यादा अच्छा है डॉक्टर को जाकर दिखा लेना। पेनकिलर का सेवन हर हाल में खतरनाक होता है। इससे जितना दूर रहा जाए उतना ही अच्छा होता है।

लेकिन कुछ लोग जरा सा भी दर्द बर्दाश्त नहीं कर पाते और फ़ौरन पेनकिलर ले लेते हैं। हल्का-फुल्का सिर दर्द हो या बदन दर्द, वह पेनकिलर खाने से नहीं हिचकिचाते। लेकिन क्या आप जानते हैं बात-बात पर पेनकिलर खाने की ये आदत आपके लिए जानलेवा साबित हो सकती है? किसी भी पेनकिलर का इस्तेमाल डॉक्टर से पूछ कर करना चाहिए। अगर आप गलत तरीके से इसका सेवन करेंगे तो कई साइड इफेक्ट्स झेलने पड़ सकते हैं।

पेनकिलर लेने से उसी समय शरीर को आराम तो मिल जाता है लेकिन इसका रेगुलर इस्तेमाल आपको कई तरह की बीमारियों की चपेट में ला सकता है। बहुत सारे लोग जिनसे दर्द बर्दाश्त नहीं हो पाता वह खाली पेट ही पेनकिलर का सेवन कर लेते हैं जिससे गैस्ट्रिक या एसिडिटी की समस्या हो सकती है। इसलिए पेनकिलर कभी भी खाली पेट नहीं लेना चाहिए। अधिक पेनकिलर के सेवन से खून की रासायनिक संराचना बदलने लगती है जिसे ब्लड डिस्क्रैसिया कहते हैं।

यह एक ऐसी बीमारी है जो अपने साथ ढेरों बीमारी को निमंत्रण देती है। यदि गलती से भी इस बीमारी का असर गहरा हो जाता है तो मरीज की जान भी जा सकती है। गर्भवती महिलाओं को पेनकिलर के इस्तेमाल से बचाना चाहिए। इस अवस्था में दवाओं का ज्यादा सेवन करने से गर्भपात भी हो सकता है। पेनकिलर अधिक मात्रा में खाने से खून पतला हो जाता है और खून जमने लगता है जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है। इतना ही नहीं, इसकी लत आपको मौत तक ले जा सकती है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF