मनी लॉन्ड्रिंग केस: ED ने पूर्व सांसद केडी सिंह को किया गिरफ्तार

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 13-01-2021 / 6:30 PM
  • Update Date: 13-01-2021 / 6:30 PM

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए राज्यसभा के पूर्व सांसद केडी सिंह को मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार किया है। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जब केडी सिंह अपनी ट्रांजैक्शन के बारे में सफाई नहीं दे सके, उसके बाद प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें गिरफ्तार किया।

ईडी की तरफ से इससे पहले भी केडी सिंह की संपत्ति को सीज किया गया था। जून, 2019 अलकेमिस्ट ग्रुप के मालिक केडी सिंह से जुड़ी कंपनी की 239 करोड़ रुपए की संपत्तियां अटैच की थी। प्रवर्तन निदेशालय ने 1,900 करोड़ रुपए के घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच को लेकर यह कार्रवाई की थी। केडी सिंह के रिजॉर्ट, शोरूम और बैंक खाते सहित करीब 239 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई थी। केडी सिंह इससे पहले भी ईडी की कार्रवाई के चलते सुर्खियों में आ चुके हैं।

बता दें कि ED ने 2016 में केडी सिंह की कंपनी अल्केमिस्ट इन्फ्रा रियलटी लिमिटेड पर केस दर्ज किया था और ये मामला PMLA के तहत दर्ज किया गया था। कंपनी पर आरोप था कि इसने लोगों को करीब 1900 करोड़ रुपये का चूना लगाया था। SEBI की ओर से कंपनी, इसके डायरेक्टर और शेयर होल्डर्स पर मामला दर्ज किया गया था।

केडी सिंह पूर्व में तृणमूल कांग्रेस की ओर से राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। बुधवार को इस कार्रवाई के टीएमसी ने केडी सिंह से अपना पल्ला झाड़ लिया है और कहा है कि, अब केडी सिंह का उनकी पार्टी से कोई संबंध नहीं है।

वहीं टीएमसी से भाजपा में गए शुभेंदु अधिकारी ने भी टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा है कि, केडी सिंह की कंपनी ने लाखों लोगों से बंगाल में धोखा किया, उन्होंने ही नारदा कंपनी को स्पॉन्सर किया था। जांच एजेंसियों को केडी सिंह की संपत्ति सीज कर लोगों को पैसा देना चाहिए।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF