डेंगू के मरीज का 21 दिन हुआ इलाज… अस्पातल ने थमाया 15 लाख का बिल

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 24-12-2017 / 1:50 PM
  • Update Date: 24-12-2017 / 1:50 PM

नई दिल्ली। गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पातल में डेंगू के इलाज के लिए 16 लाख रुपये बिल थमाने का मामला अब तक थमा नहीं है। इस बीच ऐसी ही एक और हैरान करने वाली खबर आई है। गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में डेंगू पीड़ित बच्चे का इलाज करने के नाम पर 15 लाख 88 हजार रुपये का बिल थमा दिया।

अस्पताल में 22 दिनों तक बच्चे का इलाज हुआ था, लेकिन बच्चे की हालत में सुधार नहीं हुई। आखिरकार बच्चे को 20 नवबंर को दिल्ली के राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 22 नवंबर को उसकी मौत हो गई।

बच्चे के पिता गोपिंदर सिंह परमार ने इस मामले में शुक्रवार को गुरुग्राम पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है। गुरुग्राम पुलिस के पीआरओ ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि इस मामले में जांच की जा रही है।

पेशे से एलआईसी एजेंट गोपिंदर सिंह परमार ने अपने 7 साल के बेटे शौर्य प्रताप को बीते 30 अक्टूबर को मेदांता में भर्ती करवाया था। गोपिंदर के मुताबिक अस्पातल में उसके बेटे का 22 दिन तक इलाज किया गया। अस्पताल का बिल चुकाने में उसे कई लोगों से कर्ज लेना पड़ा। लेकिन उसका बच्चा नहीं बच सका।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF