देश में 24 घंटे में कोरोना के 6,767 नए केस, 147 लोगों की मौत

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 24-05-2020 / 11:14 AM
  • Update Date: 24-05-2020 / 11:14 AM

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 6,767 नए मामले सामने आए हैं और 147 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 1,31,868 हो गई है। जिसमें से 73,560 सक्रिय मामले हैं, 54,441 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 3,867 लोगों की मौत हो चुकी है।

कर्नाटक में कोरोना के प्रसार से बचने के लिए कलबुर्गी में पुलिस ने आज पूर्ण लॉकडाउन लागू किया है। आवश्यक सामान बेचने वाली दुकानों को छोड़कर, सब कुछ सोमवार सुबह साथ बजे तक बंद रहेगा। गौरतलब है कि लॉकडाउन 4.0 में रियायतों का दायरा बढ़ाते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा था कि रविवार को राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान जरूरी चीजों को बेचने वाली दुकानों को छोड़कर बाकी सब बंद रहेगा।

ऑटो यूनियन के पूर्व अध्यक्ष का कहना है कि देहरादून में 2,392 ऑटो रिक्शा हैं। रोजाना ऑटो चालकों को 11-12 लाख रुपए का नुकसान हो रहा है क्योंकि हर चालक 500-600 रुपये रोज कमाता है। हमने उत्तराखंड सरकार से दिल्ली की तरह हर ऑटो वाले को 5,000 रुपये महीना देने की मांग की है क्योंकि 1000 रुपये से कुछ नहीं हे पाएगा।

उत्तराखंड के देहरादून में ऑटो-रिक्शा चालकों को भीषण वित्तीय संकट का सामना करना पड़ रहा है जबकि लॉकडाउन के दौरान सेवाएं फिर से शुरू हो गई हैं। एक ऑटो चालक ने बताया कि दो दिन हो गए हैं बोहनी नहीं हुई है। कोई सवारी नहीं है, कोई काम ही नहीं है। अब दिहाड़ी तो छोड़ो खाने के लाले पड़े हैं। सरकार कह रही है सुविधा दी है पर हमें कोई सुविधा नहीं मिली है। ढाई महीने बाद घर से निकले हैं पर जेब में ढाई रुपए नहीं है।

केरल में ईद आज मनाई जा रही है, लॉकडाउन के चलते कोच्चि की जुमा मस्जिद बंद है। लोग अपने घरों पर ही ईद की नमाज अदा करेंगे। दिल्ली के दरियागंज बाजार में एक फल विक्रेता ने कहा कि पूरे हिंदुस्तान, पूरे वर्ल्ड पर कोरोना का फर्क पड़ा है। ऐसे मौके पर ईद तो कोई मना ही नहीं रहा है। पर आज का जमाना भी ऐसा है कि जब तक जेब में पैसा, तब तक ईद ही ईद। किसान बहुत माल ला रहे हैं पर माल बिक नहीं रहा इसलिए हमें सस्ते में बेचना पड़ रहा है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF