देश में 24 घंटे में कोरोना के 53,480 नए केस, 354 लोगों की मौत

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 31-03-2021 / 2:06 PM
  • Update Date: 31-03-2021 / 2:06 PM

नई दिल्ली। देश में कोरोना की रफ्तार बढ़ती चली जा रही है। स्वास्थ मंत्रालय के ताजा आंकड़ों की बात करें तो भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 53,480 नए मामले सामने आए हैं। वहीं एक दिन में इस महामारी से मरने वालों की संख्या 354 है। इस नए आंकड़ें के बाद अब कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,21,49,335 हो गई है और कुल मौतों की संख्या 1,62,468 हो गई है।

बता दें कि देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 5,52,566 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,14,34,301 है। वहीं कोरोना के मामलों को बढ़ते देख केंद्र सरकार ने राज्यों साफ तौर पर हिदायत दी है कि, वे सिर्फ माइक्रो कंटेनमेंट जोन्स तक ही सीमित न रहें बल्कि, जरुरत पड़ने पर जिला स्तर पर लॉकडाउन जैसी पाबंदियां भी लगा सकते हैं। इस संबध में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की तरफ से कोरोना के मामलों को देखते हुए सभी राज्यों के प्रमुख सचिवों को एक पत्र लिखकर यह बात कही गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने पत्र में लिखा है कि जिस तरह तेजी से कोरोना की नई लहर बढ़ रही है, उससे हमारे स्वास्थ्य ढांचे के ही चरमराने का खतरा पैदा हो गया है। इस मौके पर किसी भी तरह की ढिलाई की हमें भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है।

पत्र में लिखा गया है कि, कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए माइक्रो कंटेनमेंट जोन्स की रणनीति से आगे बढ़ते हुए बड़े कंटेनमेंट जोन्स पर काम करने की जरुरत है। पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा है कि, जहां केसों का क्लस्टर है, वहां लोगों या परिवारों को सिर्फ क्वारंनटीन में भेजना ही अंतिम उपाय नहीं है। ऐसी हालत ने निपटने के लिए बड़े कंटेनमेंट जोन्स तैयार करने की जरूरत है, जिनका एक दायरा स्पष्ट हो और सख्ती से पाबंदियों को लागू किया जाए।

पत्र में लिखा गया है कि, कंटेनमेंट जोन्स में कंट्रोल के लिए सख्त पैमाने होने चाहिए। यह पाबंदियां कम से कम से 14 दिनों के लिए लागू की जानी चाहिए ताकि ट्रांसमिशन की चेन को तोड़ा जा सके। बीते साल लगे लॉकडाउन के बाद यह पहला मौका है, जब स्वास्थ्य मंत्रालय ने बड़े कंटेनमेंट जोन्स तैयार करने और जिला स्तर पर लॉकडाउन लगाने की बात कही है।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF