पंजाब निकाय चुनाव में कांग्रेस ने लहराया परचम, बीजेपी और अकाली दल का सूपड़ा साफ

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 17-02-2021 / 5:50 PM
  • Update Date: 17-02-2021 / 5:51 PM

चंडीगढ़। पंजाब में नगरीय निकाय चुनाव में सात नगर निगम सहित नगर परिषदों के नतीजे आ गए हैं। कांग्रेस पार्टी ने 53 साल बाद बठिंडा नगर निगम में जीत दर्ज कर ली है। कांग्रेस को सात नगर निगमों में जीत मिली है अधिकारियों ने बताया कि बठिंडा, कपूरथला, होशियारपुर, पठानकोट, बटाला, मोगा और अबोहर में कांग्रेस विजयी हुई है। नगर निगमों के अलावा कांग्रेस ने अभी तक 98 म्युनसिपल काउंसिल में जीत दर्ज कर ली है।

जबकि किसान आंदोलन की आंच में भारतीय जनता पार्टी झुलस गई है और इसकी चपेट में शिरोमणि अकाली दल भी आया है। बीजेपी का पंजाब में निराशाजनक प्रदर्शन देखने को मिला है तो अकाली दल भी काफी पिछड़ गया है। पंजाब शहरी निकाय चुनाव के नतीजे बीजेपी के लिए बड़ा झटका हैं। कुछ निकायों में बीजेपी का सूपड़ा साफ हो गया है।

अकाली दल प्रदर्शन भी काफी खराब दिख रहा है। अब तक के नतीजे कांग्रेस के लिए सुकून देने वाले हैं। राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले की अग्नि परीक्षा के तौर पर स्थानीय निकाय चुनाव के लिए वोटों की गिनती हो रही है।

पठानकोट को बीजेपी का गढ़ माना जाता है, लेकिन निकाय चुनाव में उसका जादू नहीं चला है। कांग्रेस ने यहां 37 में वार्डों जीत हासिल कर ली है। बीजेपी को 11 वार्डों में जीत मिली है, जबकि एक-एक वार्ड में अकाली दल और निर्दलीय जीता है। क्लीन स्वीप में कांग्रेस ने अबोहर में 50 वार्डों में से 49 जीते, जबकि शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने एक जीता है।

जैतो शहरी नगर निगम के नतीजों में 17 वार्डों में कांग्रेस को 7 पर जीत मिली है। वहीं अकाली दल तीन और निर्दलीय के खाते में चार सीटें गई है। कोटकपुरा नगर निगम में कांग्रेस को 21 वार्डों में जीत हासिल हुई है। बीजेपी ने 5 और आप ने 3 सीटें जीती हैं।

होशियारपुर के 50 वार्डों में से, कांग्रेस ने 31 वार्ड जीते। भारतीय जनता पार्टी ने चार वार्ड जीते, जबकि आम आदमी पार्टी (आप) ने दो जीते। हालांकि, शिअद और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने कोई वार्ड नहीं जीता। भवानीगढ़ नगरपालिका परिषद में, कांग्रेस ने 15 में से 13 सीटें जीतीं, जबकि शिअद और निर्दलीय ने एक-एक सीट जीती। भाजपा और आप किसी भी सीट को हासिल करने में विफल रहे। मोगा में कांग्रेस ने 50 वार्डों में से 20 जीते, जबकि शिअद 15 वार्डों के साथ दूसरे स्थान पर रही। निर्दलीय उम्मीदवारों ने 10 वार्ड जीते, जबकि आप और भाजपा ने क्रमश: चार और एक वार्ड जीते।

बता दें कि पंजाब में 116 शहरी स्थानीय निकाय चुनाव में 2,252 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है। बूथ कैप्चरिंग और झड़प के आरोपों के बीच, राज्य में 14 फरवरी को 39,15,280 मतदाताओं के मत डालने के साथ 71.39 प्रतिशत मतदान हुआ था। मोहाली में अनियमितताओं की रिपोर्ट के कारण दो बूथों में रिपोलिंग के बाद नगर निगम के लिए मतगणना गुरुवार को होगी।

उल्लेखनीय है कि विवादित केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर किसानों के विरोध का सामना कर रही बीजेपी भी मैदान में है। यह अकालियों के बिना दो दशकों में पहली बार चुनाव लड़ रहा है, जो कि एनडीए के सबसे पुराने सहयोगी हैं, जिन्होंने कृषि कानूनों को लेकर पार्टी से किनारा कर लिया। कस्बों और शहरों के स्थानीय मुद्दे भी चुनाव प्रचार के दौरान हावी रहे थे।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF