कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश में सात पार्टी नेताओं को किया निलंबित

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 29-10-2017 / 5:18 PM
  • Update Date: 29-10-2017 / 5:18 PM

शिमला। अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (एआसीसी) ने हिमाचल प्रदेश में पार्टी उम्मीदवारों के खिलाफ चुनाव लडऩे और पार्टी की अनुशासन नियमों का उल्लंघन करने के मामले में दो पूर्व मंत्रियों समेत सात नेताओं को शनिवार को पार्टी से निलंबित कर दिया। एआईसीसी के महासचिव और पार्टी के राज्य प्रभारी सुशील कुमार शिंदे ने यहां जारी एक बयान में कहा कि पार्टी के सात बागी नेताओं को कम से कम छह साल के लिए पार्टी से निलंबित कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने इस नेताओं को एआईसीसी के उम्मीदवारों के खिलाफ अपना नामांकन वापस लेने के लिए मनाने की काफी कोशिश की। हालांकि उनमें से सात नहीं मानें और उन्होंने पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवार के खिलाफ चुनाव लडऩे का फैसला किया जो कि पार्टी के अनुशासन नियमों का उल्लंघन है।

शिंदे ने कहा कि कांगड़ा जिले के शाहपुर से चुनाव लड़ रहे पूर्व मंत्री विजय सिंह मनकोटिया और शिमला जिले के रामपुर आरक्षित सीट से चुनाव लड़ रहे सिंघई राम,दोनों को निलंबित कर दिया गया है और पार्टी ने उन्हें नोटिस जारी किया है। कांग्रेस ने शाहपुर से कवल सिंह पठानिया और रामपुर से मौजूदा विधायक नंदलाल को टिकट दिया है।

कांग्रेस ने जिन बागी नेताओं की छह साल के लिए पार्टी से निकाला हैं उनमें शिमला शहरी से हरीश जनारथा, नालागढ़ से हरदीप बाब, द्रंग से पूर्ण चंद ठाकुर, रामपुर से सिंघी राम, पालमपुर से बैनी प्रसाद, शाहपुर से विजय सिंह मनकोटिया और लाहौल स्पीति से स्वतंत्र उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे राजेंदर कारपा शामिल हैं। हिमाचल प्रदेश में नौ नवंबर को वोट डाले जाएंगे जबकि 18 दिसंबर को मतगणना होगी।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF