कांग्रेस के नेता केवल हिन्दू-मुसलमान के आधार पर देश को देखते हैं: शिवराज

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 12-08-2019 / 5:10 PM
  • Update Date: 12-08-2019 / 5:10 PM

भोपाल। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है। सोमवाल को भोपाल में प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा, ये सिर्फ हिन्दू और मुसलमान के तौर पर देश को देखते हैं। मुझे पी. चिदंबरम पर तरस आता है। उनके जैसे लोग कांग्रेस को और डुबायेंगे। कांग्रेस में नई कोपल तब तक नहीं फूटेगी जब तक लोकतांत्रिक तरीके से अध्यक्ष नहीं चुना जाएगा।

उन्होंने इस फैसले को पंडित जवाहर लाल नेहरू की गलती को सुधारने वाला कदम करार दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि अब वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की पूजा करने लगे हैं। इससे पहले रविवार को उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को अपराधी करार दिया था। उनके इस बयान पर विवाद उठने पर उन्होंने सोमवार को पत्रकारों से बात की।

मेरे लिए राष्ट्र सर्वोपरि
शिवराज सिंह चौहान पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू पर दिए गए अपने बयान पर भी कायम हैं। मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि मैं देश के सभी महापुरुषों का सम्मान करता हूं। लेकिन मेरे लिए राष्ट्र सर्वोपरि है। राष्ट्र के साथ जो अपराध करता है, वो सबसे बड़ा अपराध है। मैं तथ्यों के साथ बात करता हूं। अपराध सिर्फ किसी को मारने का नहीं होता है। जम्मू-कश्मीर में धारा 370 लागू करना ये ही अपराध था।

नेहरू जी की गलती सुधारी
उन्होंने पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की तारीफ करते हुए कहा कि नेहरू जी की गलती सुधारी गई है। जिस कारण अब मैं मोदी और अमित शाह की पूजा करता हूं। चौहान ने शनिवार को ओडिशा के भुवनेश्वर में सदस्यता अभियान के तहत कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नेहरू को अपराधी बताया था।

कांग्रेस ने फिर सोनिया गांधी को अध्यक्ष बना दिया
वहीं दूसरी तरफ सोनिया गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाए जाने पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, ‘आखिरकार कांग्रेस ने फिर सोनिया गांधी को अध्यक्ष बना दिया, अब कांग्रेस कहां जाएगी। इस मामले में राहुल गांधी की सोच की तारीफ करता हूं कि उन्होंने कहा, कि गैर गांधी लाओ, अध्यक्ष पद स्वीकार नहीं किया। कांग्रेस में नई कोपल तब तक नहीं फूटेगी, जब तक लोकतंत्र के आधार पर वह अपना नेता नहीं चुनेंगे। स्वाभाविक लीडरशिप उभरने दें

रविवार को चेन्नई में पी. चिदंबरम ने कहा था कि मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि वहां मुसलमान बहुसंख्यक हैं। अगर वहां हिंदू बहुसंख्यक होते तो यह फैसला नहीं लिया जाता।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF