छत्तीसगढ़: राजिम कुंभ का नाम अब राजिम माघी पुन्नी मेला, बहस के बाद पारित हुआ विधेयक

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-01-2019 / 9:29 PM
  • Update Date: 10-01-2019 / 9:29 PM

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में गुरुवार को राजिम कुंभ (कल्प) का नाम राजिम माघी पुन्नी मेला करने संशोधन विधेयक विपक्ष की आपत्ति के बाद मत विभाजन के बाद पारित हुआ। सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच जमकर तकरार होने के बाद हुए मत विभाजन में विधेयक के पक्ष में 62 और विपक्ष में 8 मत पड़े। विधेयक पर चर्चा के दौरान अजय चंद्राकर ने प्रवर समिति को विधेयक भेजे जाने की मांग की।

बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि नियमों के तहत संशोधन नहीं लाया जा रहा। वित्तीय ज्ञापन भी नहीं दिया गया। विधेयक इतनी जल्दी में प्रस्तुत करने की वजह क्या है? इस पर आसन्दी ने कहा कि नियमों को शिथिल कर विधेयक प्रस्तुत करने की अनुमति दी गई है। संसदीय कार्यमंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि आसन्दी की अनुमति के बाद संशोधन विधेयक पेश किया गया है। ये संशोधन सिर्फ नाम के लिए है।

वित्तीय ज्ञापन की जरूरत नहीं। आसन्दी की व्यवस्था के बाद संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू ने संशोधन विधेयक पेश करते हुए कहा कि प्रदेश की धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत को ध्यान में रखकर यह संशोधन लाया गया है। इस पर बृजमोहन अग्रवाल ने आसन्दी से कहा कि कानून संशोधन का मामला है। आप हड़बड़ी न करें। इतिहास कभी माफ नहीं करेगा कि संशोधन पेश करने के लिए हड़बड़ी बरती गई।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF