केंद्र सरकार का SC के जजों पर पलटवार, कहा – किसी एक समस्या के बहाने पूरी सरकार को ना कोसें

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-08-2018 / 9:58 PM
  • Update Date: 10-08-2018 / 9:58 PM

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के जजों पर पलटवार करते हुए कहा है कि किसी एक समस्या के बहाने पूरी सरकार को नहीं कोसा जाना चाहिए। सरकार की तरफ से पेश अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने जस्टिस मदन बी लोकुर की अध्यक्षता वाली खंडपीठ से कहा कि अक्सर जज किसी मामले की सुनवाई करते हुए सरकार की निष्क्रियता पर टिप्पणी करते हैं, जबकि ऐसी टिप्पणी से बचा जाना चाहिए।

पढ़ते रहते हैं आपके आॅब्जर्वेशन
वेणुगोपाल ने अखबारों के हेडलाइंस दिखाते हुए कहा कि कोर्ट अक्सर किसी पहलू के एक पक्ष को देखते हुए ही आॅब्जर्वेशन सुनाता है जबकि मामले की सच्चाई कुछ और होती है। अटॉर्नी जनरल ने कहा, हम दिन पर दिन आपके आॅब्जर्वेशन पढ़ रहे हैं, लेकिन कोई एक जज सभी तरह की समस्याओं के सभी पहलू नहीं जान सकता। जस्टिस एसए नजीर और जस्टिस दीपक गुप्ता भी इस खंडपीठ के सदस्य हैं।

आदेशों का व्यापक असर होता है
अटॉर्नी जनरल ने कहा कि जब भी किसी विशेष मुद्दे पर कोई जनहित याचिका (पीआईएल) जज के सामने आता है, तो जज उस पर कोई आॅर्डर पास करते हैं लेकिन यह बात समझना चाहिए कि उन आदेशों का व्यापक असर पड़ता है जिसके कई परिणाम हो सकते हैं। उससे किसी खास वर्ग के अधिकार प्रभावित हो सकते हैं। उनके लिए फिर सरकार को सोचना पड़ता है। वेणुगोपाल ने कहा कि जब कोर्ट ने 2जी लाइसेंस रद्द किया था तब विदेशी निवेश लगभग खत्म सा हो गया। इसी तरह राष्ट्रीय राजमार्गों पर से शराब की दुकानें हटाने के आदेश से न केवल आर्थिक क्षति हुई बल्कि कई लोगों की आजीविका भा खत्म हो गई।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF