आइडिया, एयरटेल और वोडाफोन को टेलीकॉम कमिशन से राहत

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 14-09-2017 / 1:05 PM
  • Update Date: 14-09-2017 / 1:05 PM

नई दिल्ली। टेलीकॉम कमिशन (टीसी) ने इंटर मिनिस्ट्रियल ग्रुप (आईएमजी) से कहा है कि वह इंडस्ट्री की हालत की समीक्षा करे और कंपनियों को तुरंत राहत देने के उपाय के बारे में सोचे। टेलीकॉम कंपनियों पर काफी कर्ज है और उनकी आमदनी में लगातार गिरावट आ रही है।

टेलीकॉम डिपार्टमेंट में फैसले लेने वाली सबसे बड़ी इकाई टेलीकॉम कमिशन का यह कदम अप्रत्याशित है। उसके इस निर्देश से भारती एयरटेल, वोडाफोन इंडिया, आइडिया सेल्युलर, रिलायंस कम्युनिकेशंस और टाटा टेलीसर्विसेज जैसी कंपनियों में उम्मीद जगी है।

आईएमजी ने कंपनियों को स्पेक्ट्रम की रकम 10 साल के जगह 16 साल में चुकाने की इजाजत देने की सिफारिश की थी। उसने कंपनियों पर स्पेक्ट्रम की बकाया रकम पर ब्याज दर कम करने का भी सुझाव दिया था। टेलीकॉम कंपनियां इससे खुश नहीं थीं। दूसरी तरफ, अग्रेसिव प्राइसिंग से इन कंपनियों की हालत खराब करने वाली रिलायंस जियो ने ऐसी किसी राहत का विरोध किया है।

आईएमजी को जून में बनाया गया था और इसमें टेलीकॉम डिपार्टमेंट और वित्त मंत्रालय के अधिकारी शामिल हैं। टीसी के कंपनियों को अधिक राहत देने की बात से ऐसा लगता है कि दूरसंचार विभाग और वित्त मंत्रालय की राय टेलिकॉम कंपनियों के लिए तैयार किए जा रहे पैकेज को लेकर अलग-अलग है।

टीसी की हालिया मीटिंग की जानकारी रखने वाले अधिकारियों के मुताबिक, दूरसंचार विभाग का मानना है कि स्पेक्ट्रम का पैसा चुकाने के लिए अधिक समय देने से कंपनियों को तुरंत राहत नहीं मिलेगी।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF