सीमा विवाद: भारतीय रेलवे का बड़ा फैसला- चीनी कंपनी का कॉन्ट्रैक्ट कैंसल किया

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 18-06-2020 / 5:38 PM
  • Update Date: 18-06-2020 / 5:38 PM

नई दिल्ली। गलवान घाटी की घटना के बाद सरकार ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। जहां तक संभव है, चीन का बहिष्कार किया जा रहा है। इसी कड़ी में भारतीय रेलवे ने ‘बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजाइन इंस्टीट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कम्युनिकेशन ग्रुप’ के साथ प्रोजेक्ट को समाप्त करने का फैसला किया है। 

चीनी कंपनी को रेलवे ने जून 2016 में यह कॉन्ट्रैक्ट 471 करोड़ में दिया था। चीनी कंपनी को कानपुर और मुगलसराय सेक्शन में सिग्नलिंग और टेलीकम्युनिकेशन का काम करना था। रेलवे ने कहा कि इस काम में कंपनी की रफ्तार काफी धीमी है। कंपनी को यह काम 2019 तक पूरा कर लेना था, लेकिन अभी तक केवल 20% काम ही पूरा हो पाया है।

दरअसल, गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुए टकराव के बाद सरकार चीन की कंपनियों पर सख्त रुख दिखा रही है। केंद्र ने बुधवार को भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) से भी कहा था कि 4जी संसाधनों को अपग्रेड करने के लिए चीन के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल पूरी तरह से बंद कर दिया जाए। सूत्रों के मुताबिक, टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने सुरक्षा के मद्देनजर यह फैसला लिया।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF