अमिताभ और बेटी श्वेता के विज्ञापन से बैंक यूनियन नाराज, दी केस दर्ज करने की धमकी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 21-07-2018 / 12:32 AM
  • Update Date: 21-07-2018 / 12:32 AM

कोच्चि। अमिताभ बच्चaन और उनकी बेटी श्वेता नंदा का डेढ़ मिनट का एकn विज्ञापन विवादों में है। केरल की आभूषण कंपनी के लिए बनाए गए इस विज्ञापन की एक बैंक यूनियन ने आलोचना की है। यूनियन ने विज्ञापन को घृणित बताया और कहा कि इस विज्ञापन का मकसद बैंक प्रणाली में अविश्वास पैदा करना है।

मुकदमे की दी चेतावनी
आॅल इंडिया बैंक आफिसर्स कान्फेडरेशन ने विज्ञापनदाता आभूषण कंपनी कल्याण जूलर्स के खिलाफ मुकदमे की आज चेतावनी दी। संगठन ने कंपनी पर विज्ञापन के जरिए लाखों कर्मचारियों की भावना को आहत करने का आरोप लगाया है।

विज्ञापन का जो विचार अपमाजनक
आईबीओसी के महासचिव सौम्य दत्ता ने आरोप लगाया कि विज्ञापन का जो विचार और लहजा दिखाया गया और इसका जो तात्पर्य है, वह घृणित और अपमाजनक है। इसका मकसद वाणिज्यिक लाभ के लिए बैंक प्रणाली में अविश्वास पैदा करना है।

अपमानित करने का कोई इरादा नहीं
वहीं जूलर्स कंपनी ने आरोप को खारिज करते हुए कहा कि यह पूरी तरह कल्पना पर आधारित है। जूलर्स कंपनी ने दत्त को लिखे पत्र में कहा है, यह पूरी तरह काल्पनिक है और हमारा बैंक अधिकारियों को अपमानित करने का कोई इरादा नहीं है। कंपनी के अनुसार इसके लिये विज्ञापन से पहले उद्घोषणा भी की गयी है। इसमें कहा गया है कि किसी व्यक्ति या समुदाय के सम्मान को ठेस पहुंचाने का कोई इरादा नहीं है।

बुजुर्ग के किरदार में हैं अमिताभ
इस विज्ञापन में अमिताभ बच्चन एक बुजुर्ग के किरदार में हैं और श्वेता नंदा उनकी बेटी बनी हैं। इसमें उस बुजुर्ग व्यक्ति (अभिनेता बच्चन) को एक ईमानदार व्यक्ति के रूप में दशार्या गया है जो अपने पेंशन खाते में आए अतिरिक्त धन को लौटाने बैंक जाता है। उसकी बेटी भी उसके साथ जाती है। वहां बैंक कर्मचारियों ने उस व्यक्ति के साथ कटु व्यवहार किया। दत्ता ने कहा कि विज्ञापन में बैंक की गलत तस्वीर पेश की गयी है और लाखों कर्मचारियों की भावना को आहत किया गया है जो निदंनीय है। उन्होंने यह भी कहा कि हम इसे सभी बैंकों की मानहानि का मामला मानते हैं।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF