अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता पैनल से मांगी रिपोर्ट, 25 जुलाई को अगली सुनवाई

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 11-07-2019 / 3:26 PM
  • Update Date: 11-07-2019 / 8:55 PM

नई दिल्ली। अयोध्या विवाद मामले में मध्यस्थता को लेकर सुप्रीम कोर्ट आज सुनवाई की। मुख्य न्यायधीश रंजन गोगई के नेतृत्व में पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने इस केस की सुनवाई करते हुए मध्यस्थता पैनल से अपनी विस्तृत रिपोर्ट 18 जुलाई तक पेश करने को कहा। कोर्ट ने कहा कि यदि इस मामले में मध्यस्थता सफल नहीं हुई तो 25 जुलाई से मामले की रोजाना सुनवाई की जाएगी। हिंदू पक्ष की याचिका का विरोध कर रहे मुस्लिम पक्ष की ओर से पेश हुए राजीव धवन ने आरोप लगाया कि यह हमें डराने-धमकाने की कोशिश की जा रही है।

इस मामले में हिंदू पक्ष के वकील गोपाल सिंह विशारद की ओर से कोर्ट में कहा गया कि मध्यस्थता प्रक्रिया में कोई खास प्रगति नहीं हो रही है, इसलिए जल्द सुनवाई के लिए तारीख तय की जाए। रामलला विराजमान के वकील ने भी जारी मध्यस्थता प्रक्रिया का विरोध किया और न्यायिक फैसले की मांग की। मामले की सुनवाई करते हुए पीठ ने कहा कि 10 मई के आदेश के मद्देनजर पक्षकारों को रिकॉर्ड्स की अनुवादित प्रति जमा करानी होगी। साथ ही कहा कि मध्यस्थता समिति के प्रमुख न्यायाधीश एफएमआई कलीफुल्ला से यह अनुरोध करना उचित होगा कि वह अगले बृहस्पतिवार तक रिपोर्ट सौंप दें।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF