डेढ़ लाख सैनिकों को कम करेगी थल सेना

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 12-09-2018 / 11:00 PM
  • Update Date: 12-09-2018 / 11:00 PM

नई दिल्ली। थलसेना प्रमुख अपने मातहत सभी सात वरिष्ठ सैन्य कमांडर्स से दिल्ली स्थित साउथ ब्लॉक में मंगलवार को एक खास मीटिंग करने वाले हैं। इस बैठक में सेना में करीब डेढ़ लाख सैनिकों की कटौती को लेकर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत अपने कमांडर्स की राय जाना चाहते हैं।

सूत्रों के मुताबिक, सेना प्रमुख चाहते हैं कि रक्षा बजट के बेहतर इस्तेमाल के लिए बेहद जरूरी है कि 12.6 लाख सैनिकों वाली सेना को थोड़ा छोटा किया जाए। क्योंकि अभी रक्षा बजट का करीब 83 प्रतिशत हिस्सा सैनिकों की सैलरी में खर्च हो जाता है और हथियार और दूसरे सैन्य साजों-सामान के लिए थलसेना के पास मात्र 17 प्रतिशत ही रह जाता है। सेना मुख्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हाल ही में सेनाध्यक्ष ने सेना की ‘रिस्ट्रक्चरिंग’ यानि पुनर्गठन के लिए चार स्टडी-ग्रुप का गठन किया था।

एक-एक लेफ्टिनेंट जनरल की अध्यक्षता के नेतृत्व वाले ये स्टडी ग्रुप सेना की फील्ड फॉर्मेशन, सेना मुख्यालय, कैडर रिव्यू और जेसीओ रैंक के सैनिकों के काम करने के तरीकों से जुड़े हुए हैं। माना जा रहा है कि जल्द ही ये चारों ग्रुप अपनी रिपोर्ट सेनाध्यक्ष को सौंप देंगे और फिर अक्टूबर के महीने में सेना के आर्मी कमांडर्स कांफ्रेंस में इन सभी रिपोर्ट्स पर चर्चा होगी और फिर इन्हें रक्षा मंत्रालय की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF