बंगाल में बोले अमित शाह- बीजेपी की लड़ाई बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने की लड़ाई

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 18-02-2021 / 4:41 PM
  • Update Date: 18-02-2021 / 4:41 PM

कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता अमित शाह गुरुवार को दक्षिण 24 परगना जिले के इंदिरा मैदान में अपनी पार्टी की परिवर्तन यात्रा के पांचवें और अंतिम चरण का शुभारंभ किया। यहां जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने ममता बनर्जी को जमकर घेरा।

उन्होंने कहा कि डबल इंजन सरकार बंगाल को सोनार बांग्ला बनाए, इसलिए यह परिवर्तन यात्रा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी का परिवर्तन रथ बंगाल के सभी 294 विधानसभा क्षेत्रों से होकर जाएगा। इस दौरान शाह ने हुंकार भरते हुए कहा कि हम बंगाल से तृणमूल कांग्रेस को उखाड़ फेंकेंगे।

नामखाना में गृह मंत्री अमित शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि हम सिर्फ सत्ता का परिवर्तन करना नहीं चाहते। हमारा लक्ष्य है कि बंगाल की स्थिति में परिवर्तन हो, गरीब जनता की स्थिति में परिवर्तन हो, बंगाल की माताओं-बहनों की स्थिति में परिवर्तन हो, इसलिए हम परिवर्तन यात्रा लेकर आए हैं। शाह ने कहा कि ये परिवर्तन यात्रा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संदेश लेकर आ रही है।

उन्होंने कहा, ‘मछुवारे भाइयों को नाव चलाने के लिए किसी को रिश्वत न देनी पड़े, ये परिवर्तन है। आदिवासियों को रहने के लिए कट मनी न देनी पड़े, इसे परिवर्तन कहते हैं। प्राकृतिक आपदा के समय आपका अधिकार कोई और न ले जाए, इसे परिवर्तन कहते हैं।

गृह मंत्री ने कहा कि बीजेपी की लड़ाई बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने की लड़ाई है और ये हमारे बूथ के कार्यकर्ता और तृणमूल कांग्रेस के सिं​डिकेट के बीच की लड़ाई है। ये सिंडिकेट वाले आप तक आपका फायदा नहीं पहुंचने देते हैं। शाह ने कहा कि आपने ऊपर नरेंद्र मोदी की सरकार बनाई, एक बड़े इंजन को बंगाल के विकास के लिए दिल्ली में बैठाया, मगर यहां की सरकार उस इंजन को काम नहीं करने देती है। उन्होंने कहा कि डबल इंजन सरकार बंगाल को सोनार बांग्ला बनाई, इसलिए यह परिवर्तन यात्रा है।

अमित शाह ने वादा किया कि बंगाल में बीजेपी की सरकार बनेगी तो यहां के सरकारी कर्मचारियों को 7वां वेतन देंगे। उन्होंने कहा कि बंगाल में अपनी तनख्याह के लिए शिक्षक लड़ रहे हैं। बीजेपी सरकार आने पर शिक्षकों को उचित मानदंड मिले, इसके लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा। सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 33 फीसदी से ज्यादा बीजेपी की सरकार बंगाल में देगी। हम इस क्षेत्र में मछुआरों के कल्याण के लिए ढेर सारी योजनाएं लाने वाले हैं। बंगाल में बीजेपी की सरकार बनने के बाद किसान सम्मान निधि की ​तर्ज पर बीजेपी क़रीब चार लाख मछुआरों को 6,000 रुपये की मछुआरा सम्मान निधि देगी।

उन्होंने कहा कि बंगाल के विकास के लिए मोदी जी ने ढेर सारे पैसे भेजे। मगर ये पैसे दीदी के सिंडिकेट की भेंट चढ़ गए। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि अम्फान के बाद मोदी जी ने जो पैसा भेजा उसे तृणमूल कांग्रेस के गुंडे खा गए। भाजपा की सरकार बनने के साथ अम्फान में जो भ्रष्टाचार हुआ है, उसके लिए उच्चस्तरीय जांच करके आपका पैसा खाने वाले सब लोगों को जेल भेजेंगे।

ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए शाह ने कहा, टीएमसी का एक ही नारा है, भतीजा बढ़ाओ. भतीजे के कल्याण के अलावा टीएमसी के लिए कोई कल्याण नहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि बंगाल में राजनीतिक हिंसा में 130 से ज्यादा बीजेपी के कार्यकर्ता मारे गए। टीएमसी के गुंडों ने बीजेपी के 130 कार्यकर्ताओं को मार डाला।

अमित शाह ने कहा कि ये शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। ममता दीदी मानती हैं कि किसी को मार देने से बीजेपी रुक जाएगी। लेकिन बंगाल की धरती पर कमल खिलने वाला है। शाह ने कहा, जो गुंडे ममता दीदी की शह पर आज छिपकर बैठे हैं, उनको मैं कहना चाहता हूं कि जहां छिपना है छिप जाओ। भाजपा की सरकार बनने के बाद पाताल में से भी ढूंढकर आपको जेल में डालेंगे।

बंगाल में सरस्वती पूजा को लेकर ममता बनर्जी पर कटाक्ष करते हुए अमित शाह ने कहा कि बीजेपी के दबाव में दीदी सरस्वती पूजा कर रही हैं। मुझे इसकी खुशी है। उन्होंने कहा, बंगाल में दुर्गा पूजा के लिए कोर्ट से अनुमति लेनी होती है। दीदी ने स्कूलों में सरस्वती पूजा बंद करा दी गई, बीजेपी के दबाव के बाद दीदी सरस्वती पूजन करती दिखी हैं। इस दौरान जय श्रीराम के नारे को भी अमित शाह ने फिर से बुलंद किया।

अमित शाह ने कहा कि जय श्रीराम का नारा लगाने पर दीदी को गुस्सा आ जाता है। वो इसे अपमान समझती हैं। हम ममता दीदी से नहीं डरते हैं और बंगाल की जनता भी नहीं डरती है। यह कहते हुए अमित शाह ने रैली में ‘जय श्रीराम’ के नारे लगवाए। अमित शाह ने कहा कि जोर से जय श्रीराम का नारा लगाओ, आवाज ममता दीदी के कानों तक पहुंचनी चाहिए।

बता दें कि अमित शाह दो दिवसीय यात्रा पर बंगाल पहुंचे हैं। दौरे की शुरुआत में वह भारत सेवाश्रम संघ पहुंचे और यहां पूजा अर्चना की। इसके बाद वह गंगासागर पहुंचे। यहां समुद्र का नजारा देखा और साथ ही कपिल मुनि आश्रम पहुंचकर पूजा अर्चना की।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF