इस बात के क्या चांस थे कि 6 साल के बाद मैं फिर उसी जगह पर शूटिंग करूंगी!

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 01-03-2021 / 5:43 PM
  • Update Date: 01-03-2021 / 5:43 PM

फिल्म ‘बधाई दो’ के लिए फिर से एक ही जगह शूटिंग के खूबसूरत संयोग के बारे में बताया भूमि पेडणेकर ने

युवा बॉलीवुड स्टार भूमि पेडणेकर ने अपनी डेब्यू फिल्म ‘दम लगा के हईशा’ के दम पर ही स्टारडम की सीढ़ियां चढ़ी थीं, जिसमें उन्होंने अपने अधिकारों के लिए लड़ने वाली एक ओवरवेट लड़की की भूमिका निभाई थी। भूमि अपनी शरत कटारिया द्वारा निर्देशित डेब्यू फिल्म को एक माइलस्टोन का दर्जा देती हैं, जिसने उनके लिए सफलता के दरवाजे खोले थे। वह हाल ही में ऋषिकेश में अपनी अगली फिल्म बधाई दो की शूटिंग कर रही थीं और इस बात को लेकर बेहद अभिभूत थीं कि वह उसी घर में शूटिंग कर रही हैं जहाँ उन्होंने अपनी पहली फिल्म के लिए शूटिंग की थी।

इस वर्सेटाइल एक्ट्रेस का कहना है, “दम लगा के हईशा खरे अर्थों में मेरी जिंदगी का एक माइलस्टोन है। मैं कल्पना भी नहीं कर सकती कि इस फिल्म के बिना मेरा करियर किस दिशा में जा सकता था। मैं बड़ी भाग्यशाली थी”। कि मुझे यह फिल्म मिली और सबको पता है कि यह भूमिका निभाने के लिए मैंने कितनी कड़ी मेहनत की थी। “यह एक संयोग था कि बधाई दो के लिए मैंने फिर से उसी जगह पर शूटिंग की। वह घर जो मेरी पहली फिल्म के लिए मेरा पहला लोकेशन था, बधाई दो के लिए भी उस घर का इस्तेमाल किया गया। मैं बहुत नोस्टेल्जिक थी। इसके क्या चांस थे कि 6 साल बाद, मैं फिर से उसी जगह पर रहूंगी!”

वह कहती हैं, “ इसको लेकर मैं सुपर नोस्टेल्जिक थी कि मैं वास्तव में उन जगहों पर थी जहाँ मैंने डीएलकेएच की शूटिंग की थी। मैं उसी जगह पर खड़ी थी जहां एक एक्टर के तौर पर मैंने अपने जीवन का अपना पहला शॉट दिया था। मुझे याद है कि हमने इसके लिए लगभग 11 टेक लिए थे और मैं बहुत नर्वस थी। यह वही जगह है जहाँ एक्टर भूमि का जन्म हुआ।”

भूमि को लगता है कि अपनी पहली फिल्म के साथ ही उन्होंने इंडस्ट्री के सामने बड़े जोर से यह बात साफ कर दी थी कि वह पूरी गंभीरता और ईमानदारी के साथ काम करने आई हैं। वह बताती हैं, “डीएलकेएच ने एक एक्ट्रेस के रूप में मुझे पहचान दिलाई और दुनिया को यह जतलाने के काबिल बनाया कि मैं सबसे अलग हूं, मुझमें अच्छा काम करने की भूख है, मैं महत्वाकांक्षी हूं और यह भी दिखाया कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के अंदर अपनी विरासत तैयार करने के लिए मैं असाधारण जोखिम उठाऊंगी। आज जब मैं अपने डेब्यू की तरफ मुड़ कर देखती हूं तो मैं हर उस व्यक्ति के प्रति कृतज्ञता से भर उठती हूं, जिसने मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना सुनिश्चित किया था।“

भूमि एक आर्टिस्ट के तौर पर मन में भरोसा जगाने का श्रेय अपनी पहली फिल्म की समूची टीम को देती हैं। उन्हें याद है- “शानू से शुरू करूं तो आदि सर, मनीष शर्मा, शरत कटारिया और यहां तक कि आयुष्मान भी- सबने मुझ पर भरोसा किया और इसी चीज ने मुझे बाहर निकल कर एक आर्टिस्ट के तौर पर खुद को पेश करने का आत्मविश्वास दिया। डीएलकेएच ही वह फिल्म है और मेरे लिए यह हमेशा एक ऐसी फिल्म रहेगी, जिसने मेरे मन में और ज्यादा जोखिम उठाने का माद्दा पैदा किया, लगातार प्रयोग करते रहने का हौसला दिया और हर बार स्क्रीन पर खुद को नई तरह से पेश करने का हुनर और हिम्मत बख्शी है।“

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF