सुषमा स्वराज के निधन पर शोक की लहर, अंतिम दर्शन कर भावुक हुए पीएम मोदी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 07-08-2019 / 12:13 PM
  • Update Date: 07-08-2019 / 12:13 PM

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार रात यहां एम्स में निधन हो गया। वह 67 साल की थीं। सुषमा को दिल का दौरा पड़ने के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था, लेकिन कुछ ही देर बार उनका निधन हो गया। सुषमा स्वराज का 2016 में गुर्दा प्रतिरोपित किया गया था और स्वास्थ्य कारणों से उन्होंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुषमा स्वराज के घर पहुंच उन्हें श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने यहां सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौल से मुलाकात की और संवेदना प्रकट की। इस दौरान सुषमा स्वराज के अंतिम दर्शन कर प्रधानमंत्री भावुक भी हो गए। मोदी ने भी सुषमा स्वराज के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि स्वराज ने देश के लिए जो योगदान दिया, उसके लिए वह हमेशा याद रखी जाएंगी।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह लिखते हैं, ‘सुषमा स्वराज जी का निधन भाजपा और भारतीय राजनीति के लिए एक अपूरणीय क्षति है। मैं समस्त भाजपा कार्यकर्ताओं की ओर से उनके परिजनों, समर्थकों व शुभचिंतकों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ। ईश्वर दिवंगत आत्मा को चिर शान्ति प्रदान करे। ॐ शांति शांति शांति’।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने भी सुषमा स्वराज के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने एक बयान जारी किया है जिसमें उन्होंने लिखा कि सुषमा का जाना देश के लिए एक बड़ी क्षति है, साथ ही व्यक्तिगत तौर पर उनके लिए एक बड़ी क्षति है।

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने ट्वीट किया कि भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेशमंत्री सुषमा स्वराज जी के निधन के बारे में जानकर मुझे गहरा झटका लगा। भारत सरकार और लोगों के साथ-साथ शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति हार्दिक संवेदना और गहरी संवेदना।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सुषमा जी भारत माता की सच्ची बेटी थीं। उन्होंने भारत माता और देश की सेवा में अपना पूरा जीवन लगा दिया। उन्होंने विदेशों में भारत का मान बढ़ाया। वह कश्मीर घाटी से अनुच्छेद 370 हटने का ही इंतजार कर रही थीं और ऐसा होते ही हमें छोड़कर चली गईं।

भाजपा नेता नितिन गडकरी ने कहा कि सुषमा स्वराज जी के दुखद निधन से मुझे गहरा आघात लगा है। भारतीय राजनीति में मज़बूत विपक्षी और पूर्व विदेश मंत्री के तौर पर उनकी भूमिका को सदैव स्मरण किया जाएगा। उनके निधन से देश की, पार्टी की और व्यक्तिगत मेरी अपूर्तीय क्षति हुई है। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। ॐ शांति

कवि कुमार विश्वास ने भी सुषमा को याद किया है। वह अपने ट्वीट में लिखते हैं, ‘भारत की राजनैतिक श्री अंनत में विलुप्त हो गई ! जनभाषा की संसंदीय सुषमा समाप्त हो गई ! वैयक्तिक आभा का एक युग जीकर हमारे समय की शीर्षतम विदुषी,अटलजी के बाद की सर्वाधिक संतुलित व सम्मोहक संसदीय वक्ता की वाणी ने विराम ले लिया !ईश्वर की आलोक सभा में पदभार सम्भालो #SushmaSwaraj दी😢🙏’

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF