डीजी गुप्ता और एसपी सिंह के निलंबन पर सीएम भूपेश बघेल का बड़ा बयान, कहा- जो सबूतों से छेड़छाड़ करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी और हुई है….

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 09-02-2019 / 9:22 PM
  • Update Date: 09-02-2019 / 9:22 PM

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दिल्ली से लौटने के बाद पत्रकारों से चर्चा करेत हुए नान घोटाले में निलंबित डीजी मुकेश गुप्ता और नारायणपुर एसपी रजनेश सिंह के संबंध में कहा कि जो कूट रचना करे हैं, सबूतों से छेड़छाड़ करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी और हुई है। यह बहुत गंभीर मामला है, निजता का हनन का मामला है और जो पहले सुनने में आ रहा था वह दिखाई भी दे रहा है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज दोपहर में दिल्ली से रायपुर पहुंचे। सीएम बघेल दिल्ली में आयोजित बैठक में शामिल होने गए थे। उन्होंने कहा कि दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर पहले प्रभारी महामंत्री की बैठक थी। उसके बाद पीसीसी अध्यक्ष और सीएलपी लीडर की बैठक ली। छत्तीसगढ़ के सभी 11 से 11 लोकसभा सीट जीतना हमारा प्रयास रहेगा।

बता दें कि दोनों अधिकारियों पर नान घोटाला मामले की जांच गलत ढंग से करने, अवैध तरीके से फोन टैपिंग कराने, झूठे साक्ष्य गढ़ते हुए अपराधिक षडय़ंत्र, कूटरचित दस्तावेज तैयार करने का आरोप है। गुरुवार की देर रात ही ईओडब्ल्यू ने दोनों अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया था। एफआईआर दर्ज होने के बाद से ही दोनों अधिकारियों पर निलंबन की तलवार लटक रही थी। मुकेश गुप्ता छत्तीसगढ़ सरकार में डीजी पद पर पदस्थ हैं।

वे निलंबित होने वाले प्रदेश के दूसरे आईपीएस हैं, इसके पहले बस्तर एसपी मयंक श्रीवास्तव का निलंबन हो चुका है। बता दें कि मुकेश गुप्ता के ईओडब्ल्यू में पदस्थापना के कुछ महीनों बाद ही नागरिक आपूर्ति निगम (नान) में छापा मारा गया था। मुकेश गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने जानबूझकर जांच की दिशा बदली। कई बड़े चेहरों को बचाने का काम किया। उस दौरान रजनेश सिंह ईओडब्ल्यू में एसपी के रूप में काम देख रहे थे।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF