असम में 40 लाख लोगों की नागरिकता अवैध घोषित, बेघर होंगे सभी लोग

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 31-07-2018 / 11:04 PM
  • Update Date: 31-07-2018 / 11:04 PM

नई दिल्ली। अवैध प्रवासियों की पहचान के लिए ऐतिहासिक समझौते के तीन दशक बाद असम में सोमवार को एआरसी यानी नेशनल रजिस्टर आॅफ सिटिजन्स का अंतिम मसौदा जारी कर दिया गया है। एनआरसी पर जारी मसौदे के अनुसार 2 करोड़ 89 लाख 83 हजार 677 लोगों को वैध नागरिक मान लिया गया है। वैध नागरिकता के लिए 3,29,91,384 लोगों ने आवेदन किया था, जिसमें 40,07,707 लोगों को अवैध माना गया। इस तरह से 40 लाख से ज्यादा लोगों को बेघर होना पड़ेगा।

जिन लोगों को बेघर घोषित किया गया है, उनके बारे में कहा जा रहा है कि इनकी कागजी कार्रवाई पूरी नहीं हुई हो, या फिर वो जो अपनी नागरिकता ठीक से साबित नहीं कर सके हों। मसौदा जारी होने के बाद एनआरसी के राज्य समन्वयक की ओर से कहा गया है कि यह मसौदा अंतिम लिस्ट नहीं है, जिन लोगों को इसमें शामिल नहीं किया गया है, इस पर अपनी आपत्ति और शिकायत दर्ज करा सकते हैं। एनआरसी को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने संसद में स्थगन प्रस्ताव लाने की मांग की है। वहीं आरजेडी ने इस पर राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया।

 

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF