रूस से 33 नए फाइटर प्लेन खरीदेगा भारत, रक्षा मंत्रालय ने दी मंजूरी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 02-07-2020 / 5:19 PM
  • Update Date: 02-07-2020 / 5:19 PM

नई दिल्ली। चीन के साथ LAC पर विवाद जारी है। गलवान में हुई खूनी झड़प के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बड़ा हुआ है। भारत-चीन तनाव के बीच देश की वायु शक्ति बढ़ाने के लिए रक्षा मंत्रालय अब रूस से 33 नए फाइटर प्लेन और 12 सुखोई 30MKI फाइटर जेट खरीदने जा रहा है।

DAC की बैठक में यह फैसला लिया गया है। साथ ही यह भी फैसला लिया गया है कि हथियारों की खरीद और अपग्रेडेशन पर 38900 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। 33 नए विमानों में 12 Su-30MKIs 21 मिग-29एस विमान होंगे।

इसके साथ ही 59 मिग 29एस को अपग्रेड भी किया जाएगा। इसकी कुल लागत 18,148 करोड़ रुपये होगी। इसके अलावा भारत मे पिनाका मिसाइल सिस्टम, बीएपमपी टैंक, नेवी एयरफोर्स के लिये लंबी दूरी की मिसाइल, क्रूज मिसाइल एस्टरा मिसाइल का निर्माण किया जाएगा।

रक्षा मंत्रालय ने भारतीय वायु सेना नौसेना के लिए 248 एस्ट्रा बियॉन्ड विजुअल रेंज एयर टाइम एयर मिसाइलों के अधिग्रहण को भी मंजूरी दे दी है। DRDO को एक नई 1,000 किलोमीटर की स्ट्राइक रेंज लैंड अटैक क्रूज मिसाइल को डिजाइन की भी मंजूरी दे दी गई है।

पीएम मोदी ने द्वितीय विश्व युद्ध के 75वें विजय दिवस के मौके पर रूस को बधाई दी है। पीएम मोदी ने गुरुवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ फोन पर बात की उन्हें द्वितीय विश्व युद्ध में जीत की 75 वीं वर्षगांठ समारोह रूस में संवैधानिक संशोधनों पर वोट के सफल समापन के लिए बधाई दी है।

पीएम मोदी ने कहा कि इस मौके पर भारत आज रूस के साथ खड़ा है। उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान हजारों भारतीय सैनिकों के बलिदान को भी याद किया।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF