बीजापुर में नक्सलियों से मुठभेड़ में 22 जवान शहीद, अमित शाह बोले- दिया जाएगा मुंहतोड़ जवाब

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 04-04-2021 / 5:50 PM
  • Update Date: 04-04-2021 / 5:50 PM

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए हैं। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट के जरिए शहीद जवानों के परिवारों के प्रति गहरी शोक संवेदनाएं प्रकट की हैं। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि, मेरी संवेदनाएं छत्तीसगढ़ में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ है। वीर शहीदों के बलिदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना है।

वहीं इसके अलावा देश के गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं। शाह ने कहा कि देश को भरोसा देता हूं, बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। नक्सली हमले पर नजर बनाए हुए गृहमंत्री अमित शाह असम से दिल्ली लौट रहे हैं। दिल्ली लौटते ही नक्सली हमले पर आला अधिकारियों के साथ अमित शाह बैठक करेंगे। गृह मंत्री अमित शाह की असम में दो रैलियां प्रस्तावित थीं लेकिन नक्सली हमले के चलते दोनों रैलियां रद्द हो गई हैं।

बता दें कि घटना की सूचना पाकर अमित शाह ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को फोनकर उनसे इस संबंध में विस्तृत चर्चा की। मुख्यमंत्री ने गृहमंत्री अमित शाह से बात करते हुए कहा कि मुठभेड़ में सुरक्षा बलों को हुई क्षति दुखद है लेकिन सुरक्षा बलों के हौंसले बुलंद हैं और नक्सली हिंसा के विरुद्ध यह लड़ाई हम ही जीतेंगे।

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री बघेल से कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर नक्सलियों के खिलाफ इस लड़ाई को जरूर जीतेंगे। शाह ने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से जो भी आवश्यक मदद होगी वो राज्य सरकार को दी जायेगी। उन्होंने कहा की उन्होंने CRPF के महानिदेशक को घटना स्थल पर जाने के निर्देश दे दिए हैं।

बता दें कि छत्‍तीसगढ़ सुकमा-बीजापुर बॉर्डर के जंगलों में नक्‍सलियों से हुई मुठभेड़ में अब तक 22 जवान शहीद हुए हैं। इसके साथ ही कई जवान गंभीर रुप से घायल हैं। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने 10 नक्सलियों को मार गिराया है। फिलहाल इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। आपको बता दें कि इस साल का ये सबसे बड़ा नक्सली हमला है।

जानकारी के मुताबिक नक्सलियों ने हमले में देसी रॉकेट लॉन्चर और एलएमजी का इस्तेमाल किया था। बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों को जानकारी मिली थी कि नक्सलियों का बड़ा दुर्दांत कमांडर हिडमा बीजापुर के पोवर्ती गांव छिपा हुआ है। इस जानकारी पर सीआरपीएफ और छत्तीसगढ़ पुलिस की डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड ने एक ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया। जैसे ही अंदर सुरक्षा बल जा रहे थे नक्सलियों ने उनपर घात लगाकर हमला कर दिया।

तकरीबन 200 से 300 नक्सलियों ने बुलेट, नुकीले हथियारों और देसी रॉकेट लॉन्चर से सुरक्षाकर्मियों पर चारों तरफ से हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों पर यह हमला नक्सलियों के संगठन पीपुल्स लिबरेशन ग्रुप आर्मी प्लाटून वन की यूनिट ने किया है जिसका नेतृत्व खुद हिडमा करता है।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF