मुंबई के रेलवे स्टेशन पर मची भगदड़ – 22 लोगों की मौत, कई घायल

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 29-09-2017 / 5:04 PM
  • Update Date: 29-09-2017 / 5:04 PM

मुंबई। मुंबई में परेल-एलफिंस्टन स्टेशन के पास बने पुल पर ज्यादा भीड़ की वजह से भगदड़ मच गई जिससे एक बड़ा हादसा हो गया। शुक्रवार सुबह 10 बजकर 45 मिनट के करीब हुए यह हादसा हुआ। केईएम अस्पताल की केजुअल्टी से मिले आंकड़ों के अनुसार, अभी तक 22 शव अस्पताल में पहुंच चुके हैं और कई लोगों के घायल होने की खबर है जिन्हें तुरंत इलाज दिया जा रहा है। यह जानकारी केईएम हॉस्पिटल के सीएमओ प्रवीण बांगर ने दी।

बढ़ सकती है मृतकों की संख्या
आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या और अधिक हो सकती है। घटनास्थल पर एनडीआरएफ की टीम पहुंची चुकी है।

रेल मंत्री ने किया मुआवजे का ऐलान
हादसे को लेकर रेलमंत्री पीयूष गोयल ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने ट्वीट किया है, अभी मुंबई पहुंचा हूं। एल्फिंस्टन रोड फुटओवर ब्रिज पर मची दुर्भाग्यपूर्ण भगदड़ में मासूम जिंदगियों के नुकसान से शोक संतप्त हूं। उन्होंने लिखा है, शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। मैं घायलों के जल्दी स्वस्थ्य होने की प्रार्थना करता हूं। रेल मंत्री ने मृतकों के परिजन को पांच लाख रुपये, गंभीर रूप से घालयों को एक लाख रुपये और अन्य घायलों को 50,000 रुपये सहायता राशि देने की घोषणा की।

इसलिए मची भगदड़
खबर के मुताबिक, रेलवे के डीजी पीआर ए सक्सेना ने बताया कि अचानक बारिश की वजह से लोग स्टेशन पर ही इंतजार कर रहे थे। जब बारिश रुकी तब लोगों में अफरातफरी मच गई और भगदड़ हो गई। वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मृतकों को 5 लाख रुपये देने का ऐलान किया है।

पीएम ने जताया शोक
घटना पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शोक किया। उन्होंने कहा कि रेलमंत्री पीयूष गोयल मौके पर मौजूद हैं और हरसंभव सहायता सुनिश्चित कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर शोक जताते हुए लिखा, ‘मुंबई में मची भगदड़ में जिन लोगों की जान गई है उनके प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। मेरी प्रार्थनाएं घायलों के साथ हैं।

यह तो होना ही था…
गुस्साए यात्रियों और आसपास के लोगों ने कहा कि यह पुल काफी पुराना है और यह काफी संकरा है। यह इतना मजबूत नहीं था कि काफी सारे लोगों को एक साथ संभाल सके। एक स्थानीय आदमी ने कहा कि हादसा कभी भी हो सकता था, इसकी आशंका पहले से थी। लोगों का कहना है कि और पुल बनाए जाने के लिए कई बार मांग की जा चुकी थी।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF