मध्यप्रदेश: भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस के 21 बागी विधायक

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 30-03-2020 / 7:10 PM
  • Update Date: 30-03-2020 / 7:10 PM

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश विधानसभा से इस्तीफा देने वाले कांग्रेस के 21 बागी पूर्व विधायकों ने आज यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सदस्यता ग्रहण की। ग्वालियर चंबल क्षेत्र के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के कट्टर समर्थक ये पूर्व विधायक बेंगलुरु से आज दोपहर एक विशेष विमान से नयी दिल्ली पहुंचे जहां उन्होंने सबसे पहले सिंधिया से भेंट की और उसके बाद ये भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के निवास पर पहुंचे।

नड्डा के साथ सिंधिया, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र ह तोमर एवं धर्मेन्द्र प्रधान और भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में सभी 21 पूर्व विधायकों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। श्री बिसाहूलाल साहू पहले ही भोपाल में भाजपा की सदस्यता ले चुके हैं।

आज सदस्यता लेने वाले इन विधायकों में तुलसी सिलावट, इमरती देवी, गोवद सिंह राजपूत, प्रभुराम चौधरी, प्रद्युम्न ह तोमर, महेंद्र सिंह सिसोदिया, हरदीप ह डंग, जसपाल ह जज्जी, राजवर्धन ह, ओपीएस भदौरिया, मुन्नालाल गोयल, जसवंत जाटव, रघुराज सिंह कंसाना, कमलेश जाटव, बृजेंद्र सिंह यादव, सुरेश धाकड़, गिर्राज डंडोतिया, श्रीमती रक्षा संतराम, ऐंदल सह कंसाना, मनोज चौधरी और रणवीर जाटव शामिल थे।

कांग्रेस में श्री सिंधिया की अनदेखी किये जाने के विरोध में बगावत करने वाले इन पूर्व विधायकों के इस्तीफे के बाद ही मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी। बताया जा रहा है कि उनकी गृह मंत्री अमित शाह से भी भेंट होने की संभावना है। इस दौरान आगे की रणनीति तय की जाएगी।

इन विधायकों के भाजपा में शामिल होने के बाद राज्य में भाजपा सरकार के नेतृत्व के सवाल पर विचार-विमर्श तेज हो गया है। इस प्रक्रिया में श्री सिंधिया की राय अहम होगी क्योंकि भाजपा की सरकार का गठन उनके कारण ही हो रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा और विधानसभा में भाजपा विधायक दल के वर्तमान नेता एवं विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव के नाम संभावित नेताओं के रूप में लिये जा रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार उधर भोपाल में भाजपा विधायक दल की शनिवार को प्रस्तावित बैठक कोरोना महामारी के कारण सोमवार तक टाल दी गई। अब सोमवार को भाजपा के विधायक दल के नेता का चुनाव होगा। सूत्रों के अनुसार भाजपा 25 मार्च को गुड़ी पड़वा यानी नवसंवत्सर के मौके पर राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF