नदवी का दावा – ‘राम मंदिर’ के लिए मोदी टीम ने किया था संपर्क

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 13-02-2018 / 8:13 PM
  • Update Date: 13-02-2018 / 8:13 PM

नई दिल्ली। अयोध्या विवाद पर राम मंदिर के पक्ष में खड़े होने वाले मौलाना सलमान नदवी ने दावा किया है कि राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का मसला सुलझाने के लिए और मंदिर को बनाने और मस्जिद को कही और हटाने के लिए टीम मोदी ने उनसे संपर्क किया था।

मुझे टारगेट कर रहे कुछ लोग
नदवी ने कहा – मैं दोनों समुदायों के लिए अयोध्या विवाद के शांतिपूर्ण समाधान पर काम करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा हूं। मुझे भावनात्मक महसूस हुआ क्योंकि मैं कुछ अच्छा समाधान ढूंढने की कोशिश कर रहा हूं जो इस्लाम में स्वीकार्य है। लेकिन कुछ लोग निहित स्वार्थों के कारण मुझे टारगेट कर रहे हैं।

उसी जमीन पर बनेगा राम मंदिर
नदवी की कहना है कि उन्हें यकीन है कि मंदिर उसी जमीन पर बनेगा और हम अंतिम समाधान तक पहुंचेंगे। नदवी ने कहा कि हम अयोध्या में फिर से मिलकर चर्चा करेंगे और आगे बढ़ने के लिए कुछ हल तलाशेंगे।

बदनाम किए जाने पर रोए नदवी
इससे पहले खबर थी कि राम मंदिर बनाने के पक्ष में खड़े होने वाले मौलाना सलमान नदवी लखनऊ के नदवा कॉलेज में सोमवार को छात्रों के सामने फूट-फूटकर रो पड़े। उन्होंने कहा है कि उन्हें बदनाम किया जा रहा है। नदवी कॉलेज में छात्रों को बता रहे थे कि किन शर्तो पर वो राम मंदिर-मस्जिद विवाद के समझौते के लिए तैयार हुए हैं। नदवी के मुताबिक ओवैसी और दूसरे लोगों के आरोपो से आहत होकर वे भावुक हुए।

इसलिए निशाने पर सलमान नदवी
बता दें कि मौलाना सलमान नदवी पिछले दिनों अध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर से मिले और बाबरी मस्जिद को दूसरी जगह शिफ्ट करने और विवादित जगह पर राम मंदिर बनाने की वकालत करने लगे। इसके बाद से वो लगातार निशाने पर हैं।

पर्सनल लॉ बोर्ड से निकाले गए नदवी
राम मंदिर का पक्ष लेने के चलते ही सलमान नदवी को ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से उन्हें बाहर निकाल दिया गया है। साथ ही सलमान नदवी पर सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया है। इसके अलावा नदवी के सामाजिक बहिष्कार की अपील भी की थी।

कौन हैं नदवी?
मौलाना सलमान नदवी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के एग्जीक्यूटिव सदस्य थे। लेकिन अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का समर्थन करने और मस्जिद को दूसरी जगह शिफ्ट करने का फॉर्मूला उन्होंने सुझाया था जिसके बाद से बोर्ड उनसे नाराज चल रहा था। लेकिन अब उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया गया है।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF