बिना मर्दों के यहां गर्भवती हो रही महिलाएं

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 24-01-2018 / 3:26 PM
  • Update Date: 24-01-2018 / 3:26 PM

केन्या के समबुरू का उमोजा गांव में पुरुषों के प्रवेश पर पाबंदी है, इसलिए इस गांव में कोई पुरुष नहीं रहता है। पिछले 27 साल इसे इस गांव में कोई पुरुष नहीं आने के बावजूद गांव की महिलाएं गर्भवती हो रही हैं। यह सबके लिए रहस्य बना हुआ है कि जब इस गांव में न कोई पुरुष रहता है और न ही कोई पुरुष आता है तो फिर गांव की महिलाएं गर्भवती कैसे हो जा रही हैं।

कांटों की फेंसिंग से घिरा केन्या के समबुरू का उमोजा गांव दुनिया का सबसे अनोखा गांव है। इस गांव में पुरुषों प्रवेश पर प्रतिबंध लगा हुआ है, इसलिए पिछले 27 साल से यहां सिर्फ महिलाएं रह रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि 1990 में इस गांव को 15 ऐसी महिलाओं के रहने के लिए चुना गया, जिनके साथ ब्रिटिश जवानों ने रेप किया था।

इसके बाद ये गांव पुरुषों की हिंसा का शिकार हुई महिलाओं का ठिकाना बन गया। बाद में इस गांव में रेप, बाल विवाह, घरेलू हिंसा और खतना जैसी तमाम हिंसा झेलनी वाली महिलाओं ने अपना बसेरा बना लिया। इस गांव में इस समय करीब 250 महिलाएं और बच्चे रह रहे हैं।

गांव में महिलाएं प्राइमरी स्कूल, कल्चरल सेंटर और सामबुरू नेशनल पार्क देखने आने वाले टूरिस्ट्स के लिए कैंपेन साइट चला रही हैं। इस गांव की अपनी वेबसाइट भी है। यहां रहने वाली महिलाएं गांव के फायदे के लिए पारंपरिक ज्वैलरी भी बनाकर बेचती हैं। साथ ही ये महिलाएं सफारी घूमने आने वाले टूरिस्ट्स को अपना गांव दिखाती हैं।

इनसे एंट्रेंस गेट पर गांव की महिलाओं द्वारा तय एंट्री फीस ली जाती है जिससे इस गांव का खर्च चलता है। इस गांव में महिलाओं की तादाद लगातार बढ़ रही है। वहीं वे बच्चों को भी जन्म दे रही है। इसका कारण है कि वे शारीरिक संबंध बनाने के लिए गांव से बाहर चोरी छुपे जाती है और पसंदीदा मर्द के साथ सेक्स करती हैं। इस तरह वे वंश भी चला रही है और शारीरिक सुख भी पा रही हैं।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF